ट्रांसपोर्ट नगर में बनाएंगे टाउनशिप

Updated Date: Sun, 27 Sep 2020 08:48 AM (IST)

लैंड पुलिंग स्कीम के तहत आवासीय व व्यवसायिक प्रस्ताव को दिया जाएगा आकार

अक्टूबर में प्रस्तावित गांवों में सर्वे के लिए उड़ेगा ड्रोन

मोहनसराय में प्रस्तावित ट्रांसपोर्ट नगर योजना को आकार देने के लिए एक बार फिर से कवायद शुरू हो गई है। वीडीए ने लैंड पुलिंग स्कीम और लोकल एरिया प्लान (एलएपी) के तहत ट्रांसपोर्ट नगर को बसाने की योजना पर काम शुरू कर दिया है। अक्टूबर के पहले सप्ताह से ड्रोन के जरिए सर्वे कराया जाएगा। इसके बाद इस योजना को और गति दी जाएगी।

जाएंगे किसानों के बीच

प्लानिंग को लेकर प्राधिकरण के अफसर जल्द ही किसानों के बीच जाएंगे। जितनी जमीन ट्रांसपोर्ट नगर के लिए अधिग्रहित कर ली गई हैं। उस पर टाउनशिप को आकार दिया जाएगा तो जो जमीनें नहीं मिल सकी हैं वहां भी विकास कार्य होंगे। किसानों के विरोध के चलते पूर्व में प्राधिकरण ने हाथ खड़े कर दिए थे। बाद में तत्कालीन कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण की अध्यक्षता में नया प्रस्ताव तैयार हुआ। ट्रांसपोर्ट नगर योजना को लेकर वीडीए ने शासन से करीब 855 करोड़ का प्रस्ताव बनाकर भेजा। अब तक प्रदेश सरकार ने इस प्रस्ताव पर कोई निर्देश-आदेश नहीं दिया है। न तो सहमति जताई है और न ही इनकार किया है। वीडीए ने पूर्व में ही प्रस्तावित रकबा के सापेक्ष 40 फीसद से अधिक किसानों की जमीन अधिग्रहित कर लिया है।

ट्रांसपोर्ट नगर की उपयोगिता खत्म

सरकार ने संदहा से हरहुआ तक रिंग रोड बनाकर शहर की तस्वीर बदलकर भीड़भाड़ शहर में कम किया है। वहीं दूसरे चरण के रिंगरोड बनने की शुरुआत होने से अब ट्रांसपोर्ट नगर की उपयोगिता भी खत्म हो जाएगी। चूंकि जिस मकसद से ट्रांसपोर्ट नगर बसाना था, दूसरे चरण के रिंग रोड बनने से बाहर-बाहर ट्रक शहर के चारों दिशाओं तक पहुंच जाएंगे जिससे माल गोदामों व दुकानों तक पहुंच जाएगा।

95 करोड़ लिया हुडको से कर्ज

ट्रांसपोर्ट नगर योजना को आकार देने के लिए वीडीए लम्बे समय से प्रयासरत है। योजना को गति मिले इसके लिए वीडी ने 95 करोड़ हुडको से कर्ज भी ले लिया, लेकिन कुछ किसान नेताओं ने इसमें अड़ंगा लगाकर किसानों को भड़का दिया, जिससे योजना 2001 से अब तक खटाई में पड़ी है।

82.159 हेक्टेयर करना है अधिग्रहण

ट्रांसपोर्ट नगर बसाने के लिए वीडीए को 82.159 हेक्टेयर कुल भूमि अधिग्रहण करनी है। इस योजना से मिलकीचक, करनाडाड़ी, सरायमोहना, बैरवन गांव के 1194 किसान प्रभावित हैं। अब तक 781 किसान 45 हेक्टेयर भूमि देने के लिए सहमत हैं और उनमें से 771 किसानों ने 34.41 करोड़ मुआवजा भी ले लिया है। वीडीए तहसीलदार डीके सिंह ने बताया कि 413 किसानों से 35 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण कर उन्हें मुआवजा देना है।

एक नजर ट्रांसपोर्ट नगर योजना पर

मिल्कीचक, सरायमोहना, बैरवन व करनाडाड़ी गांव में प्रस्तावित

कुल किसान : 1194

सहमत किसान : 781

मुआवजा लेने वाले किसान : 771

सहमति नहीं देने वाले किसानों की संख्या : 413

मुआवजा : 6718.30 लाख

ट्रांसपोर्ट नगर योजना को लेकर मंथन हो रहा है। उस इलाके का समुचित विकास किया जाएगा ताकि वहां के लोगों का जीवन स्तर बेहतर हो सके। इसके लिए किसानों से वार्ता होगी। लैंड पुलिंग स्कीम के तहत आवासीय व व्यवसायिक प्रस्ताव को आकार दिया जाएगा।

-राहुल पांडेय, वीसी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.