वीवीपैट की होगी अग्निपरीक्षा

2018-11-26T06:00:21Z

ईवीएम और वीवी पैट चेकिंग के आयोग ने जारी किए निर्देश

सभी मुख्यालयों को लोकसभा चुनाव के मद्देनजर निर्देश जारी

Meerut । देश में पहली बार लोकसभा चुनाव के दौरान ईवीएम के साथ वीवी पैट का इस्तेमाल हो रहा है। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर प्रदेश सरकार ने जनपद के सभी जिलाधिकारियों को लोकसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनजर जानकारी साझा की है। खासकर ईवीएम और वीवी-पैट के फ‌र्स्ट लेवल चेकिंग और मॉक पोल के संबंध में जारी निर्देश में आयोग ने कहा है कि पोलिंग के आधार पर इलेक्ट्रानिक उपकरणों की मॉक पोल के दौरान चेकिंग होगी। आयोग ने हर जनपद में फ‌र्स्ट लेवल चेकिंग के दौरान कम से कम 25 वीवी-पैट की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए हैं।

अलग-अलग होगा परीक्षण

लोकसभा चुनाव का बिगुल देश में बेशक अभी न फुंका हो किंतु चुनाव आयोग ने अपनी तैयारियों को तेज कर दिया है। चुनाव से पहले इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) और वोटर वेरीफिकेशन पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवी पैट) की फ‌र्स्ट लेवल चेकिंग होगी। इस प्रक्रिया के दौरान बरते जाने वाले एहतियात के संबंध में आयोग ने जनपदों को निर्देश जारी किए हैं।

-ईवीएम और वीवी-पैट की फ‌र्स्ट लेवल चेकिंग अलग-अलग होगी।

-ईवीएम की फ‌र्स्ट लेवल चेकिंग के लिए जिन जनपदों में वीवी पैट की उपलब्धता नहीं है वे इंतजार नहीं करेंगे, बल्कि ईवीएम की चेकिंग शुरू कर देंगे।

-मॉक पोल के दौरान कम से कम 5 प्रतिशत ईवीएम की चेकिंग होगी। वीवी-पैट के मॉक पोल के संबंध में आयोजन ने निर्देश दिए हैं कि जिन ईवीएम पर 1200 वोट हैं उनका प्रतिशत, 1000 और 500 वोट वाले ईवीएम का 2 प्रतिशत वोट वीवी-पैट पर चेक किया जाए।

-मॉक पॉल के बाद प्रिंटेड बैलेट स्लिप की गिनती होगी और उसे रिजल्ट के साथ कंप्रेयर किया जाएगा।

-ईवीएम की काउंटिंग यूनिट (सीयू) और वीवी-पैट की प्रिंटेड बैलेट स्लिप टैली करनी चाहिए।

-सीयू और वीवी पैट की टैली रिपोर्ट फ‌र्स्ट लेवल चेकिंग के दौरान मौजूद राजनैतिक दलों के जनप्रतिनिधियों की दिखाई जाएगी।

-हर जनपद में फ‌र्स्ट लेवल चेकिंग के दौरान कम से कम 25 वीवी-पैट की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश भारत निर्वाचन आयोग ने दिए हैं।

---

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर मेरठ में लोकसभा से पूर्व फ‌र्स्ट लेवल चेकिंग कराई जाएगी। इस दौरान ईवीएम और वीवी-पैट की कार्यप्रणाली की जानकारी जनप्रतिनिधियों को देने के साथ-साथ मॉक पोल के रिजल्ट को टैली कराया जाएगा।

-रामचंद्र, एडीएम प्रशासन, मेरठ

-------

काउंटडाउन शुरू, 5 दिन शेष

-30 नवंबर को वोटर लिस्ट सर्वे का अंतिम दिन, दावे और आपत्तियां दाखिल करने का अंतिम समय

-अंतिम विशेष दिवस का हुआ आयोजन, पोलिंग बूथ पर वोट बनवाने और कटवाए गए

मेरठ: वोटर लिस्ट में नाम दर्ज कराने के लिए काउंटडाउन शुरू हो गया है, महज 5 दिन शेष हैं। वहीं रविवार को अंतिम विशेष अभियान दिवस पर जनपद के सभी पोलिंग बूथ पर वोट बनवाने और कटवाने का कार्य चलता रहा।

30 नवंबर अंतिम तिथि

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर 1 सितंबर से संचालित वोटर लिस्ट पुनर्रीक्षण की प्रक्रिया समापन की ओर है। अंतिम तिथि 30 नवंबर है। 30 नवंबर तक 18 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों के वोट बनवाने के लिए पुनर्रीक्षण अभियान संचालित किया जा रहा है। अभियान के दौरान नाम कटवाने और वोटर लिस्ट में संशोधन का कार्य भी किया गया। अंतिम 5 दिनों में वोटर लिस्ट के संबंध में दावे और आपत्तियां ली जाएंगी। अभियान के दौरान विभिन्न प्रक्रियाओं का संचालन होगा

प्रपत्र 6-1 जनवरी 2019 तक 18 वर्ष या उससे अधिक की आयु के नागरिक का वोट बनवाने के आवेदन का प्रपत्र

प्रपत्र 6ए-विदेश में रह रहे भारतीय नागरिकों का वोट बनवाने के लिए प्रपत्र

प्रपत्र 7-वोटर लिस्ट में दर्ज नाम को कटवाने के लिए प्रपत्र

प्रपत्र 8-वोटर लिस्ट में दर्ज मतदाता के नाम में गलती, फोटो आदि न होने पर आवेदन का प्रपत्र

प्रपत्र 8क-वोटर लिस्ट में मौजूद नाम को उसी विधानसभा के किसी दूसरे पोलिंग बूथ में स्थानांतरित कराने के लिए

---

विशेष दिवस आयोजित

रविवार को जनपद के सभी पोलिंग स्टेशन पर अंतिम विशेष दिवस का आयोजन किया गया। डीएम अनिल ढींगरा के निर्देशन में सभी पोलिंग बूथ पर बीएलओ एवं अन्य अधिकारियों ने बैठक वोट बनवाए। विशेष दिवस के दौरान बीएलओ की उपस्थिति की जांच के लिए शहर एवं देहात क्षेत्रों में प्रशासनिक अधिकारियों ने पोलिंग बूथ का औचक निरीक्षण किया।

---

कमिश्नर ने की समीक्षा

वोटर लिस्ट पुनर्रीक्षण कार्य की रविवार को कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने समीक्षा की। कैंप कार्यालय पर इस दौरान मंडल के सभी जनपदों के सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी मौजूद थे। कमिश्नर ने अधिकारियों को समयबद्ध तरीके से वोटर लिस्ट पुनर्रीक्षण का कार्य पूर्ण करने के बाद त्रुटिरहित वोटर लिस्ट के प्रकाशन कराने के निर्देश दिए।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.