एसटीएफ टीम ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश

2019-06-07T12:25:01Z

यूपी पुलिस के लिये सिरदर्द बन चुके कुख्यात बदमाश एक लाख के इनामी तौकीर को आखिरकार एसटीएफ टीम ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया।

lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : यूपी पुलिस के लिये सिरदर्द बन चुके कुख्यात बदमाश एक लाख के इनामी तौकीर को आखिरकार एसटीएफ टीम ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया। बीती रात किसी संगीन वारदात को अंजाम देने के लिये जाते वक्त उसे एसटीएफ टीम ने प्रतापगढ़ में घेर लिया था। वह जेल वार्डेन हरिनारायण मौर्य, मार्बल व्यवसायी राजेश सिंह और ग्राम प्रधान दिनेश दुबे की हत्या के मामलों में वांछित था। इसके अलावा उस पर लूट, डकैती, हत्या, हत्या की कोशिश समेत दर्जनों मामले दर्ज हैं। एनकाउंटर के दौरान उसका साथी मौके से भाग निकलने में सफल रहा। एसटीएफ टीम ने तौकीर के कब्जे से दो पिस्टल, एक कारबाइन व कारतूस बरामद किये हैं।

रंगदारी की शिकायत पर एक्टिव हुई एसटीएफ
एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह के मुताबिक, बीते दिनों सूचना मिली थी कि एक लाख का इनामी तौकीर व उसके गैंग मेंबर्स प्रतापगढ़ के  बड़े कारोबारियों व डॉक्टर्स को वाट्सएप कॉल के जरिए रंगदारी मांग रहे हैं। रकम न मिलने पर उन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही है। शिकायत पर एसटीएफ टीमों को गैंग के बारे में इंटेलिजेंस इनपुट इकट्ठा करने के लिये लगाया गया। जिसमें पता चला कि तौकीर प्रतापगढ़ में अक्सर बाइक से एक जगह से दूसरी जगह पर आता-जाता है और वारदात को अंजाम देने के बाद गुजरात, मुंबई, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश और पंजाब में भागकर छिप जाता है।
एसएसपी ने संभाली कमान
टीमों को पता चला कि बीती रात तौकीर अपने साथियों के साथ प्रतापगढ़ में ही मौजूद है और किसी संगीन वारदात को अंजाम देने की फिराक में है। यह भी पता चला कि वह देररात प्रतापगढ़ में डबल क्रॉसिंग बाइपास होते हुए चिलबिला की ओर जाएगा। पुख्ता सूचना मिलने पर एसएसपी अभिषेक सिंह टीम के साथ आनन-फानन प्रतापगढ़ पहुंचे और तौकीर को दबोचने का प्लानिंग शुरू की। उन्होंने टीम को तीन हिस्सों में बांटते हुए पोजीशन ले ली। कुछ देर बाद ही अंतू की ओर से बाइकसवार तौकीर व उसका एक अन्य साथी वहां आ पहुंचे।
दागने लगा गोलियां
बदमाशों को देखते ही एसटीएफ कर्मियों ने उसे ललकारा और सरेंडर करने को कहा। लेकिन, वह घेराबंदी किये एसटीएफ कर्मियों पर ताबड़तोड़ फायरिंग करने लगा। जबकि, बाइक चला रहा उसका साथी बाइक को मोड़कर भागने की कोशिश करने लगा। टीम ने बाइक के सामने आकर उसे रोकने की कोशिश की लेकिन, वह उन पर भी टूट पड़ा और पिस्टल से गोलियां दागनी शुरू कर दीं। एसटीएफ कर्मियों ने सड़क पर लेटकर पोजीशन ले ली। इसी बीच एसएसपी अभिषेक सिंह व उनके टीम मेंबर्स फायरिंग की परवाह किये बिना बदमाशों पर लपके।
बाल-बाल बचे एसटीएफ कर्मी
लेकिन, इसी बीच तौकीर ने अपने पिठू बैग से कारबाइन निकाल ली और उन पर फायरिंग शुरू कर दी। इस फायरिंग में एसटीएफ कर्मी बाल-बाल बच गए। आखिरकार, कोई दूसरा ऑप्शन न देख एसटीएफ कर्मियों ने भी जवाबी फायरिंग कर दी। जिसमें एक बदमाश घायल होकर जमीन पर धराशायी हो गया जबकि, उसका साथी मौके से फरार हो गया। घायल हुए बदमाश की शिनाख्त एक लाख के इनामी तौकीर के रूप में हुई। एसटीएफ कर्मियों ने आनन-फानन उसे इलाज के लिये जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टर्स ने उसे डेड डिक्लेयर कर दिया।
दहशत का पर्याय बन चुका था तौकीर
एनकाउंटर में ढेर किया गया एक लाख का इनामी बदमाश तौकीर प्रतापगढ़ व आसपास के इलाकों में दहशत का पर्याय बन चुका था। 14 सितंबर 2018 को उसने अंतू के ग्रामीण बैंक में डकैती डाली थी। 27 दिसंबर 2018 को जिला कारागार प्रतापगढ़ में तैनात वार्डेन हरिनारायण मौर्य को तौकीर ने अपने साथियों के साथ गोलियों से भून डाला था। वहीं, इस साल 23 जनवरी को तौकीर ने मार्बल व्यवसायी राजेश सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी थी। बीती 9 मार्च को प्रतापगढ़ के सदर बाजार कोहरौटी में दुकान लूटने के दौरान तौकीर ने ताबड़तोड़ फायरिंग की, जिसमें उधर से गुजर रहे अशोक कुमार की मौत हो गई थी।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.