सागर आइलैंड/तिरुवनंतपुरम (एएनआई/आईएएनएस)। देश और विदेश के 40 लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने पश्चिम बंगाल के सागर आइलैंड के पवित्र गंगा में डुबकी लगाई। बता दें कि बुधवार को मकर संक्रांति के अवसर पर वार्षिक गंगासागर मेले का आयोजन किया गया था। इस मौके पर यहां लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सैकड़ों ड्रोन, सीसीटीवी कैमरे और एक लाख क्यूआर कोड-आधारित रिस्ट बैंड की व्यवस्था की गई थी। मकर संक्रांति के अवसर पर गंगासागर में भक्तों के अलावा हजारों संतों ने भी डुबकी लगाई। यहां मेले के लिए नागा साधुओं का एक बड़ा जत्था भी उतरा है। गंगासागर में 'शाही स्नान' के लिए सबसे शुभ समय बुधवार को सुबह 12.24 बजे शुरू हुआ और यह पूरे दिन तक जारी रहेगा। बता दें कि गंगासागर स्नान को हिंदू बहुत शुभ मानते हैं, जो मकर संक्रांति पर पवित्र स्नान के लिए यहां एकत्रित होते हैं और कपिल मुनि मंदिर में नारियल चढ़ाकर प्रार्थना करते हैं।

Makar Sankranti 2020 Celebration: शाहिद कपूर के घर मना ये पर्व पत्नी मीरा ने शेयर की बेटी की क्यूट पिक्चर

लोग श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर में भी गए

वहीं, बुधवार को मकर संक्रांति के अवसर पर बड़ी संख्या में भक्तों ने श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर का दर्शन किया। भक्तों ने आज सुबह मंदिर में पूजा की। इससे पहले आज, आदिवासी समुदाय के प्रतिनिधियों ने मकर संक्रांति पर श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर का दौरा किया और भगवान को सब्जी और फल चढ़ाया। आदिवासी समुदाय के प्रतिनिधि माथेन कानी ने कहा, 'मैं कोट्टूर अगस्टारकुडम घाटी से आ रहा हूं। मैं अर्यन समुदाय से संबंध रखता हूं और इस शुभ दिन पर यहां प्रसाद के साथ यात्रा करना हमारी परंपरा है।'

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk