-कानपुर के डिफरेंट स्कूल के टीचर्स ने शुरू की ऑनलाइन क्लासेस

-रोज पढ़ा रहे एक-एक सब्जेक्ट का चैप्टर, स्टूडेंट्स ले रहे हैं इंट्रेस्ट

KANPUR : लॉकडाउन के चलते फाइनेंशियल क्राइसिस से हर कोई जूझ रहा है, लेकिन स्टूडेंट की एजूकेशन पर कोई संकट न आए इसके लिए टीचर्स ने कमर कस ली है। कानपुर के कई टीचर्स ऑनलाइन वीडियो बनाकर सोशल प्लेटफॉर्म पर शेयर कर रहे हैं। वहीं कई टीचर्स एक-एक चैप्टर को लेकर नोट्स बनाकर स्टूडेंट्स से शेयर कर रहे हैं। ताकि सब्जेक्ट वाइस स्टूडेंट प्रॉपर अपनी पढ़ाई अपडेट रख सके।

स्टूडेंट काफी पसंद कर रहे

गुरुनानक इंटर कॉलेज के टीचर राहुल कुमार सोशल प्लेटफॉर्म पर साइंटिफिक अप्रोच नाम से क्लासेस चला रहे हैं। वो बताते हैं कि लॉकडाउन के चलते स्टूडेंट्स की पढ़ाई का नुकसान न हो, इसके लिए 10 और 12वीं स्टूडेंट के लिए रोज केमिस्ट्री और बायोलॉजी के डिफरेंट टॉपिक्स के वीडियो बनाकर शेयर कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर स्टूडेंट इसे काफी पसंद कर रहे हैं।

यूनिवर्सिटी के टीचर भी आए आगे

सीएसजेएम यूनिवर्सिटी के होटल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट के विभागाध्यक्ष डा। विवेक सिंह सचान भी ऑनलाइन पढ़ाई के लिए रोज स्टूडेंट्स के साथ व्हाट्सग्रुप पर नोट्स शेयर कर रहे हैं। उनके मुताबिक लॉकडाउन में डिपार्टमेंट से लेकर लाइब्रेरी तक बंद हैं। ऐसे में स्टूडेंट की पढ़ाई का नुकसान काफी हो रहा है। इसलिए स्टूडेंट्स का व्हाट्सग्रुप बनाकर रोज उसमें एक-एक टॉपिक के नोट्स शेयर करता हूं। स्टूडेंट की क्वैरिज भी ग्रुप में ही सॉल्व कर देते हैं। इसके बाद वाइस और वीडियो कॉल के जरिए प्रॉब्लम सॉल्व कर रहे हैं। यूनिवर्सिटी के अन्य टीचर्स भी यही कर रहे हैं।

-------------

क्या कहते हैं टीचर्स

लाइफ में पहली बार ऐसा हुआ है कि लॉकडाउन में इतने दिन स्कूल बंद हुए हैं। ऑनलाइन क्लासेस देकर हम स्टूडेंट की पढ़ाई का नुकसान नहीं होने देंगे। ये हमारी जि मेदारी भी है।

-हेमंत शुक्ला, टीजीटी इंग्िलश टीचर।

स्टूडेंट की पढ़ाई का नुकसान किसी भी कीमत नहीं होने दिया जाएगा। सोशल प्लेटफॉर्म इस समय सबसे अच्छा जरिया बन चुका है पढ़ाई का। स्टूडेंट भी इसका खूब यूज कर रहे हैं।

-डा। विवेक सिंह सचान, हेड, होटल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट।

21 दिन में स्टूडेंट की पढ़ाई का काफी नुकसान हो जाता। ऐसे में स्टूडेंट भी काफी परेशान थे। तो सोशल प्लेटफॉर्म का यूज हर एक स्टूडेंट के लिए काफी यूजफुल साबित हो रहा है।

-राहुल कुमार, केमिस्ट्री व बायो टीचर।

--------------

गवर्नमेंट ने भी दिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म

1. एनसीईआरटी की बुक्स के लिए

-दीक्षा द्धह्लह्लश्चह्य://स्त्रद्बद्मह्यद्धड्ड.द्दश्र1.द्बठ्ठ

2. ई-पाठशाला 11वीं व 12वीं के लिए

द्धह्लह्लश्च://द्गश्चड्डह्लद्धह्यद्धड्डद्यड्ड.ठ्ठद्बष्.द्बठ्ठ

3. नेशनल रिपॉजिटरी ऑफ ओपन एजूकेशन रिसोर्सेज

द्धह्लह्लश्चह्य://ठ्ठह्मश्रद्गह्म.द्दश्र1.द्बठ्ठ/द्धश्रद्वद्ग/ह्मद्गश्चश्रह्यद्बह्लश्रह्म4

4. स्वयंप्र ा डीटीएच चैनल

द्धह्लह्लश्चह्य://www.ह्य2ड्ड4ड्डद्वश्चह्मड्डढ्डद्धड्ड.द्दश्र1.द्बठ्ठ/

XXXXXXXXXXXXXXXXX

हायर स्टडीज के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म

1. ई-पीजी पाठशाला-70 सब्जेक्ट 22,000 से ज्यादा ई-कंटेंट

द्धह्लह्लश्च://द्गश्चद्दश्च.द्बठ्ठद्घद्यद्बढ्डठ्ठद्गह्ल.ड्डष्.द्बठ्ठ/

2. इंफोपोर्ट-यूजीसी, डीएसटी, डीबीटी, एआईसीटीई

द्धह्लह्लश्चह्य://द्बठ्ठद्घश्रश्चश्रह्मह्ल.द्बठ्ठद्घद्यद्बढ्डठ्ठद्गह्ल.ड्डष्.द्बठ्ठ/ड्डढ्डश्रह्वह्ल.ड्डह्यश्च3

3. शोधगंगा- फुल टेक्स्ट थीसिस

द्धह्लह्लश्चह्य://ह्यद्धश्रस्त्रद्धद्दड्डठ्ठद्दड्ड.द्बठ्ठद्घद्यद्बढ्डठ्ठद्गह्ल.ड्डष्.द्बठ्ठ

4. साक्षात- वर्चुअल क्लासेस, इंजीनियरिंग व स्पोकन ट्यूटोरियल

द्धह्लह्लश्च://द्वद्गस्त्रद्बड्ड.ह्यड्डद्मह्यद्धड्डह्ल.ड्डष्.द्बठ्ठ/ठ्ठद्वद्गद्बष्ह्ल/द्गष्श्रठ्ठह्लद्गठ्ठह्ल.द्धह्लद्वद्य

5. पब मेड सेंट्रल- हेल्थ सांइसेस के 5.9 मिलियन आर्टिकल्स

द्धह्लह्लश्चह्य://www.ठ्ठष्ढ्डद्ब.ठ्ठद्यद्व.ठ्ठद्बद्ध.द्दश्र1/श्चद्वष्

-----------

ऑनलाइन ई-बुक्स

1. हेल्थी ट्रस्ट डिजिटल लाइब्रेरी

द्धह्लह्लश्चह्य://www.द्धड्डह्लद्धद्बह्लह्मह्वह्यह्ल.श्रह्मद्द/

2. फ्री टेक बुक्स

द्धह्लह्लश्च://www.द्घह्मद्गद्गह्लद्गष्द्धढ्डश्रश्रद्मह्य.ष्श्रद्व/

3. डायरेक्ट्री ऑफ ओपन एक्सेस बुक्स

द्धह्लह्लश्चह्य://www.स्त्रश्रड्डढ्डश्रश्रद्मह्य.श्रह्मद्द

4. नेशनल एकेडमिक प्रेस

द्धह्लह्लश्चह्य://www.ठ्ठड्डश्च.द्गस्त्रह्व

----------

कॉपिटेटिव एग्जाम्स के लिए

1. इंजीनियरिंग यूनिवर्सिटी एप

द्धह्लह्लश्चह्य://श्चद्यड्ड4.द्दश्रश्रद्दद्यद्ग.ष्श्रद्व/ह्यह्लश्रह्मद्ग/ड्डश्चश्चह्य/स्त्रद्गह्लड्डद्बद्यह्य

2. गेट एप

द्धह्लह्लश्चह्य://श्चद्यड्ड4.द्दश्रश्रद्दद्यद्ग.ष्श्रद्व/ह्यह्लश्रह्मद्ग/ड्डश्चश्चह्य/स्त्रद्गह्लड्डद्बद्यह्य

3. फ्री यूपीएससी व आईएएस एप

द्धह्लह्लश्चह्य://श्चद्यड्ड4.द्दश्रश्रद्दद्यद्ग.ष्श्रद्व/ह्यह्लश्रह्मद्ग/ड्डश्चश्चह्य/स्त्रद्गह्लड्डद्बद्यह्य

-------------

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner