-प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने 18 फरवरी को कई अस्पतालों का किया था निरीक्षण

- स्वास्थ्य विभाग ने मानक पूरे करने को दिया एक सप्ताह का समय

बरेली : खुले में मेडिकल वेस्ट फेंकने वाले जिले भर के 28 अस्पताल, नर्सिग होम और पैथोलॉली लैब पर ताला लटक सकता है. प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के आदेश पर स्वास्थ्य विभाग ने इन सभी हॉस्पिटल को नोटिस जारी कर एक सप्ताह में प्रदूषण नियंत्रण के मानक पूरे करने को कहा है. निर्धारित समय में मानक पूरे न करने पर अस्पताल बंद करने की चेतावनी भी दी है.

निरीक्षण में मिली थी खामियां

प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड दिल्ली की टीम ने 18 फरवरी को क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम के साथ शहर के अस्पतालों का निरीक्षण किया था. इस दौरान 28 ऐसे अस्पताल, नर्सिंग होम और पैथोलॉजी मिले जहां प्रदूषण नियंत्रण के मानक पूरे नहीं किए जा रहे थे. बोर्ड की ओर से स्वास्थ्य विभाग को इन अस्पतालों को नोटिस जारी करने का आदेश दिया गया. स्वास्थ्य विभाग ने इन 28 अस्पतालों को एक सप्ताह में मानक पूर्ण करने का आदेश दिया है.

..तो खुले में फेंक रहे थे मेडिकल वेस्ट

खुले में मेडिकल वेस्ट फेंकने से बीमारियां फैलने का खतरा रहता है और प्रदूषण भी फैलता है. मेडिकल वेस्ट के निस्तारण के लिए हजार्ड मेडिकल कंपनी से सभी अस्पतालों ने करार किया है. अस्पतालों से निकलने वाले मेडिकल वेस्ट को हजार्ड कंपनी ही निस्तारित करती है. जिन अस्पतालों को नोटिस भेजा गया है उनका करार कंपनी से नहीं था. इससे साफ है कि इन अस्पतालों का मेडिकल बेस्ट खुले में फेंका जा रहा था.

क्या हैं मानक ..

1. मेडिकल वेस्ट को खुले में न डालें.

2. मेडिकल वेस्ट के निस्तारण के लिए कंपनी से करार होना आवश्यक

3. अस्पताल, नर्सिग होम और पैथोलॉजी से वेस्ट नाली में न बहाया जाए.

4. मेडिकल वेस्ट की मासिक रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग को प्रेषित की जाए.

5. मेडिकल वेस्ट के निस्तारण संबंधी एनओसी का हर वर्ष रिन्यूवल कराना आवश्यक है.

इन अस्पतालों को भेजा गया नोटिस

. आशीष लाइफ केयर हॉस्पिटल, नकटिया.

2. अशोक हॉस्पिटल, नैनीताल रोड.

3. बालाजी नर्सिग होम, बदायूं रोड.

4. बेगराज हॉस्पिटल, मेन रोड नवाबगंज.

5. चंद्रा मेटरनिटी सेंटर, सिविल लाइंस.

6. चिरंजिवी नर्सिग होम, कालीबाड़ी.

7. डॉ. मनोज कुमार रस्तोगी, पीलीभीत बाईपास रोड.

8. फैज हॉस्पिटल, वीर सावरकर नगर.

9. फ्रैक्चर एंड बोन उप्पल क्लीनिक, सिटी रेलवे स्टेशन.

10. जेजे हॉस्पिटल, सिटी स्टेशन रोड.

11. जैन मेटरनिटी नर्सिंग होम, बिहारीपुर.

12. जयंत दलाल मेमोरियल हॉस्पिटल, सीबीगंज.

13. जीसस एंड मैरी हॉस्पिटल, फतेहगंज पश्चिमी.

14. केशव माधव ब्लड बैंक एंड पैथोलॉजी, कोहाड़ापीर.

15. लाईफ केयर हॉस्पिटल, शहदाना.

16. मदर केयर हॉस्पिटल एंड मेटरनिटी सेंटर, नार्थ सिटी.

17.मुकतेश एंडोस्कॉपी क्लीनिक एंड हॉस्पिटल, एकता नगर.

18. नव जीवन नर्सिग होम, सिविल लाइंस.

19. प्रताप हॉस्पिटल, मिनी बाईपास रोड.

20. रीजनल हॉस्पिटल, गुलाब राय इंटर कॉलेज के पास.

21. संजीव नर्सिग होम, सिविल लाइंस.

22. सत्य नारायण हॉस्पिटल, शहदाना रोड.

23. शील नर्सिग होम, आलमगिरी गंज.

24. शिरीष गुप्ता नर्सिग होम, सिविल लांइस.

25. शिवानी हॉस्पिटल एंड हार्ट सेंटर, रामपुर गार्डन.

26. स्टैब्स मैट एंड चाइल्ड वेलफेयर सोसायटी, कुतुबखाना.

27. सूरज नर्सिग होम, चौपला रोड.

28. स्वास्तिक आई केयर सेंटर, पीलीभीत बाईपास रोड.

वर्जन :::

पर्यावरण संरक्षण के तहत बोर्ड और क्षेत्रीय टीम ने 18 फरवरी को शहर के कई अस्पताल, नर्सिग होम और पैथोलॉजी का निरीक्षण किया गया था जिसमें 28 ऐसे पाए गए जिनके मानक अपूर्ण पाए गए. इनका मेडिकल वेस्ट कंपनी से करार संबंधी दस्तावेज भी नहीं थे. इसलिए स्वास्थ्य विभाग को नोटिस जारी करने का आदेश जारी किए.

रोहित सिंह, क्षेत्रीय अधिकारी.

वर्जन .

प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के आदेश पर शहर के 28 अस्पतालों को नोटिस जारी किए गए हैं, जिनमें नर्सिग होम, हॉस्पिटल और पैथोलॉजी शामिल हैं. इन्हें मानक पूर्ण करने को एक सप्ताह का समय दिया गया है. अगर इस समय में मानक पूर्ण नहीं हुए तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

डॉ. वीके शुक्ला, सीएमओ.