-एनसीआर ने बनवाई प्रयागराज एक्सप्रेस की डॉक्यूमेंट्री

-जंक्शन पर पैसेंजर्स के साथ मनाया जाएगा प्रयागराज एक्सप्रेस का बर्थ-डे

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: इलाहाबाद जंक्शन से कई ट्रेनें चलती हैं. लेकिन नई दिल्ली जाने के लिए प्रयागराज एक्सप्रेस ही इलाहाबादियों की सबसे फेवरेट ट्रेन है. सोमवार को यह ट्रेन 35 साल की हो गई. इन 35 बरसों में प्रयागराज एक्सप्रेस ने कई बदलावों के साथ करीब चार करोड़ पैसेंजर्स को सफर कराया है. मंगलवार को प्रयागराज एक्सप्रेस का 35वां बर्थ डे इलाहाबाद जंक्शन पर पैसेंजर्स के साथ ही बहुत ही धूम-धाम से मनाया जाएगा. वहीं इस ट्रेन के अब तक के सफर पर रेलवे ने डॉक्यूमेंट्री भी बनवाई है.

राजेंद्र कुमारी ने दिखाई थी हरी झंडी

35 साल पहले 16 जुलाई 1984 को प्रयागराज एक्सप्रेस पहली बार इलाहाबाद जंक्शन से नई दिल्ली के लिए रवाना हुई थी. उस समय प्रयागराज एक्सप्रेस का नंबर 91 अप और नई दिल्ली से 92 डाउन था. तत्कालीन केंद्रीय मंत्री राजेंद्र कुमारी बाजपेयी ने इलाहाबाद जंक्शन से हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को रवाना किया था.

चार करोड़ से ज्यादा की हमसफर

23 कुल कोच हैं इस ट्रेन में. इसमें एक कोच एसी फ‌र्स्ट, तीन सेकंड एसी, चार एसी थ्री, 11 स्लीपर एवं दो कोच जनरल श्रेणी के हैं. इसके अलावा दो कोच जेनरेटर यान के हैं. कुल मिलाकर 1348 बर्थ हैं प्रयागराज एक्सप्रेस में. शायद ही कोई ऐसा दिन हो, जब प्रयागराज एक्सप्रेस में लंबी वेटिंग लिस्ट न हो. प्रयागराज एक्सप्रेस के नाम एक और उपलब्धि भी है. प्रयागराज एक्सप्रेस से अब तक चार करोड़ से ज्यादा यात्री इसमें सफर कर चुके हैं. एक अनुमान के मुताबिक इस ट्रेन से पर-डे करीब 1700 से ज्यादा पैसेंजर दिल्ली का सफर करते हैं. अगर दोनों ओर से जोड़ लिया जाए तो यह आंकड़ा 3400 से 3500 पैसेंजर पर-डे का होगा. साल भर में ही प्रयागराज एक्सप्रेस में औसतन 12 लाख से ज्यादा यात्री सफर कर लेते हैं.

प्रयागराज एक्सप्रेस के 35वें बर्थ डे को एनसीआर पूरे उत्साह के साथ सेलिब्रेट करेगा. मंगलवार की शाम जंक्शन पर प्रयागराज एक्सप्रेस की रवानगी के पहले पैसेंजर्स का वेलकम करने के साथ ही केक काटा जाएगा. प्रयागराज की उपलब्धि और बदलाव के बारे में पैसेंजर्स को बताया जाएगा.

-अजीत कुमार सिंह

सीपीआरओ, एनसीआर