नई दिल्ली (पीटीआई)। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक की ओर कश्मीर आने और जमीनी तौर पर हालात देखने के न्योते पर मंगलवार काे पलटवार किया। राहुल गांधी ने सत्यपाल मलिक की ओर से यात्रा पर आने का निमंत्रण स्वीकार कर लिया। हालांकि इस दाैरान राहुल गांधी ने कहा कि उन्हें विमान की जरूरत नहीं है। वह और विपक्ष के अन्य नेता जम्मू कश्मीर आएंगे।


जवानों तक जाने तथा उनसे मुलाकात करने की छूट मांगी
राहुल गांधी ने राज्यपाल से वहां के लोगों तथा सैनिकों से मुलाकात करने की छूट देने को भी कहा। इस संबंध में राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि प्रिय राज्यपाल मलिक, विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल और मैं जम्मू कश्मीर तथा लद्दाख की यात्रा के आपके गरिमामय न्योते को स्वीकार करता हूं। हमें विमान की जरूरत नहीं है लेकिन कृपा कर यह सुनिश्चित करें कि हमें वहां पर लोगों तक, मुख्यधारा के नेताओं तक और वहां तैनात हमारे जवानों तक जाने तथा उनसे मुलाकात करने की छूट हो।
सुप्रीम कोर्ट का जम्मू-कश्मीर में लगे बैन हटाने का निर्देश देने से इनकार, 2 हफ्ते के लिए टाली सुनवाई
जम्मू-कश्मीर हालातों को लेकर इन दिनों विपक्ष सरकार को घेरे

बता दें कि जम्मू-कश्मीर हालातों को लेकर इन दिनों विपक्ष केंद्र सरकार को घेरे हैं। इस पर सोमवार को राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को जम्मू कश्मीर आने का न्योता देते हुए कहा था कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष के लिए वह विमान भेजेंगे । राज्यपाल ने यह निमंत्रण तब दिया जब राहुल गांधी ने कहा राज्य में स्थिति सामान्य नहीं है और लोग मर रहे हैं जैसा कि सरकार दावा कर रही है।

 

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk