मुंबई (पीटीआई)। अगले महीने होने वाले विंडीज दौरे के लिए भारतीय क्रिेकट का एलान शुक्रवार को होगा। एमएसके प्रसाद की अगुआई में सलेक्शन कमेटी इस दौरे के लिए किन खिलाड़ियों को चुनेगी, इस पर सबकी नजरें हैं। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और एमएस धोनी ये दौरा करेंगे या नहीं, इस पर काफी सस्पेंस बना हुआ है। 38 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज धोनी तो वर्ल्डकप से ही आलोचकों के निशाने पर हैं। माही की फाॅर्म इस समय साथ नहीं दे रही। वहीं उनके रिटायरमेंट की अटकलें भी लगाई जा रहीं। ऐसे में अगर माही का इस दौरे के लिए टीम में सलेक्शन होता है तो इसका मतलब साफ है वह भारतीय टीम के भविष्य के प्लान में शामिल हैं। बता दें भारतीय टीम 3 अगस्त से विंडीज दौरे की शुरुआत कर रही। टीम इंडिया यहां तीन-तीन मैचों की टी-20 और वनडे सीरीज खेलेगी। वहीं टेस्ट चैंपियनशिप का आगाज भी इस दौरे पर हो जाएगा।

पंत है धोनी का विकल्प
2020 में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्डकप को ध्यान में रखकर सलेक्टर्स नए और युवा खिलाड़ियों को टीम में ज्यादा मौका देना चाहेंगे। खासतौर से रिषभ पंत सलेक्शन कमेटी की पहली पसंद हो सकते हैं। पंत को धोनी के ऑप्शन के तौर पर भी देखा जा रहा। पिछले साल वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टी-20 मैचों के लिए धोनी को टीम में शामिल नहीं किया गया था और पूरी उम्मीद है कि इस बार भी कुछ ऐसा ही हो। बता दें पंत को हाल ही में वर्ल्डकप मैचों के लिए शिखर धवन के रिप्लेसमेंट के तौर पर टीम में शामिल किया गया था जिसमें भारतीय टीम सेमीफाइनल तक पहुंची थी।

कोहली को दिया जा सकता है आराम
धोनी के अलावा टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली भी इस टीम का हिस्सा नहीं होंगे। विराट पिछले काफी समय से क्रिकेट खेल रहे हैं। ऐसे में उन्हें आराम दिया जा सकता है क्योंकि विंडीज टूर के बाद भारत को अपने घर पर साल के अंत तक लगातार क्रिकेट खेलना है। हालांकि टेस्ट चैंपियनशिप के लिए कोहली को प्लेइंग इलेवन में रखा जा सकता है।

Ind vs WI : अमेरिका खेलने जा रही टीम इंडिया, पूरी रात जगकर देखने पड़ेंगे मैच


जिम्मी नीशम का सुपरओवर वाला सिक्स देखकर उनके कोच की चली गई जान

नंबर 4 को बनाना होगा मजबूत
सलेक्शन पैनल टीम सुनते वक्त मिडिल ऑर्डर को भी ध्यान में रखेगा। भारत के वर्ल्डकप से बाहर होने की बड़ी वजह कमजोर मध्यक्रम रहा था। ऐसे में टीम मैनेजमेंट नंबर 4 के लिए एक अच्छा विकल्प तलाशना चाहेगा, जोकि सालों से बड़ा मसला रहा है। इसके लिए मयंक अग्रवाल, मनीष पांडेय और श्रेयस अय्यर पर निगाहें होंगी। ये तीनों बल्लेबाज घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करते आए हैं।

Cricket News inextlive from Cricket News Desk