122 कॉलोनियों का जनरेट नहीं हो रहा बिल

कॉलोनियों में सीवर लाइन डाली, पर नहीं लगाया सीवर टैक्स

नगर निगम को 5 करोड़ रुपये का सालाना हो रहा नुकसान

Meerut . शहर की 122 से अधिक कालोनियों में सीवर लाइन का काम पूरा होने के बाद भी नगर निगम को सीवर टैक्स प्राप्त नही हो रहा है जिस कारण हर साल उसे करीब पांच करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है.

बकाया सीवर टैक्स

नगर निगम करीब तीन लाख से अधिक भवन स्वामियों से हाउस व सीवर टैक्स के रूप में 15 से 18 करोड़ रुपए सालाना वसूलता है. लेकिन करीब 122 कालोनियों में लाइन डालने के बावजूद अभी तक इनका सीवर टैक्स जेनरेट नही हो सका है, जबकि ये कालोनियां नगर निगम को हैंडओवर भी हो चुकी हैं.

पांच करोड़ बकाया

सीवर टैक्स का करीब पांच करोड़ रुपए बकाया चल रहा है. निगम के अनुसार यदि इन 122 कालोनियों से सीवर टैक्स की वसूली शरू हो जाए तो निगम की आय में 5 से 7 करोड़ की वृद्धि संभव है.

इन क्षेत्रों में विवाद

जिलानी नगर, मिया मोहम्मद नगर, शकूर नगर, अलवी नगर, फखरुददीन अली नगर, रसूल नगर, पूर्वा मुफ्तियान, हाशिमपुरा, मदीना कालोनी, समन गार्डन, खुशहाल कालोनी, शेरगढ़ी, सिद्धार्थ नगर, मेव गढ़ी, फतेहउल्लाह पूर, अहमद नगर, आशियाना कालोनी आदि

कुछ कालोनियां हैं जिनको अभी नगर निगम को हैंड ओवर नही किया गया है. केवल उन कालोनियों से ही सीवर टैक्स नही वसूला जा रहा है. जल्द ही ऐसी कालोनियों का सर्वे कराकर हाउस टैक्स को बढाया जाएगा.

- अली हसन कर्नी, अपर नगरायुक्त