prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: बॉलसन चौराहे पर दोपहर 2.45 बजे सपा सांसद धर्मेन्द्र यादव की अगुवाई में धरना शुरू हुआ तो किसी को भी यह अंदाज नहीं था कि सड़क पर अराजकता का ऐसा नजारा दिखाई देगा. कार्यकर्ताओं को धरने से उठाने पर हालात ऐसे बिगड़े कि उसका असर चौराहे से लेकर आनंद भवन तक, भाजपा सांसद श्यामाचरण गुप्ता के आवास तक, लल्ला की चुंगी और कमला नेहरू हॉस्पिटल तक दिखा. यहां सपा कार्यकर्ताओं ने जमकर बवाल काटा. पुलिस पर पत्थरबाजी और कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज के बीच शाम चार बजे तक अराजकता और दहशत का माहौल बना रहा.

दुकानों पर पथराव, रेस्टोरेंट में तोड़फोड़
लाठीचार्ज के बाद कमला नेहरू हॉस्पिटल की ओर भागे उग्र कार्यकर्ताओं ने सागर रत्‌ना रेस्टोरेंट पर पथराव कर शीशों को क्षतिग्रस्त कर दिया और गेट पर रखे गमलों को तोड़ डाला तो पुलिस ने बॉलसन चौराहे के आसपास बैरीकेडिंग कर दी. पैरा मिलिट्री फोर्स के जवानों ने मोर्चा संभालते हुए कार्यकर्ताओं को दौड़ाया तो कार्यकर्ता आनंद भवन की ओर मुड़ गए. इस दौरान दहशत की वजह से दुकानदार धड़ाधड़ अपनी दुकानों के शटर गिराने लगे. आनंद भवन के सामने चक्काजाम कर दिया गया और प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी होने लगी. इसके बाद तो भारद्वाजपुरम् से लेकर कर्नलगंज कोतवाली के आसपास के सभी व्यापारिक प्रतिष्ठानों पर दुकानदारों ने ताला जड़ दिया.

वीडियो बनाने पर पब्लिक को पीटा
अराजकता इस कदर थी कि आनंद भवन के सामने और रामा केमिस्ट के सामने खड़े कुछ छात्रों ने वीडियो बनाना शुरू कर दिया तो बलवाइयों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया. कार्यकर्ताओं ने वीडियो बनाने वालों को जमकर पीटा. आरएएफ के जवानों ने उन्हें दौड़ाया तो कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह पुलिसवालों पर जमकर पथराव किया. कमला नेहरू हॉस्पिटल से लेकर सागर रत्‌ना रेस्टोरेंट तक सड़क पर दर्जनों बड़े-बड़े पत्थर पड़े हुए थे.

समारोह से पहले भी हुआ बवाल
विश्वविद्यालय में वार्षिकोत्सव समारोह में जाने के लिए सांसद धर्मेन्द्र यादव, सांसद नागेन्द्र सिंह पटेल, विधायक संग्राम यादव, एमएलसी रामवृक्ष यादव सहित सैकड़ों कार्यकर्ता हाईकोर्ट के सामने से निकले. लक्ष्मी टॉकिज चौराहे पर पहुंचने पर पुलिस ने सभी को आगे जाने से रोकने का प्रयास किया. इस पर आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने चौराहे पर पीएम और सीएम की होर्डिग्स को फाड़ डाला. लक्ष्मी टॉकिज चौराहा और एकलव्य चौराहे पर रखे गमलों को तोड़ डाला. यहां पर दोपहर 12.30 बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच धक्कामुक्की हुई. पुलिस को बैकफुट पर आना पड़ा. इसके बाद सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए कार्यकर्ता सीधे छात्रसंघ भवन पहुंच गए.

कब क्या हुआ

लक्ष्मी टॉकिज चौराहे पर दोपहर 12.30 से लेकर एक बजे तक हंगामा.

एक बजे से लेकर दोपहर 2.15 बजे तक छात्रसंघ भवन पर वार्षिकोत्सव समारोह चला.

2.15 बजे मंच से सांसद धर्मेन्द्र यादव ने ऐलान किया कि बॉलसन चौराहे पर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करना है.

दोपहर 2.30 बजे सांसद धर्मेन्द्र यादव की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपिता की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया. उसके बाद धरने पर बैठ गए.

दोपहर 2.30 बजे से लेकर शाम चार बजे तक बॉलसन चौराहे और उसके आसपास के एरिया में कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच गुरिल्ला युद्ध चलता रहा.

युद्ध के दौरान पथराव से एक दर्जन लग्जरी वाहनों को क्षतिग्रस्त किया गया.

पुलिस लाठीचार्ज में सांसद धर्मेन्द्र यादव सहित एक दर्जन कार्यकर्ता घायल हो गए. जबकि लाठीचार्ज में घायल सपा प्रवक्ता ऋचा सिंह, पूर्व उपाध्यक्ष निर्भय सिंह पटेल, लोहिया वाहिनी के प्रदेश सचिव ननकऊ यादव, युवजन सभा के महानगर सचिव राजेश यादव व युवा वाहिनी के जिला सचिव मुलायम यादव हॉस्पिटल में भर्ती हुए.