नई दिल्ली (पीटीआई)। भारत सरकार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके बच्चों राहुल और प्रियंका के विशेष सुरक्षा समूह (एसपीजी) कवर को वापस ले लिया है। अब उन्हें सीआरपीएफ की जेड प्लस सुरक्षा दी जाएगी। बता दें कि गांधी परिवार को 21 मई, 1991 को लिट्टे के आतंकवादियों द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद दिया गया था । एक बड़े अधिकरी ने बताया कि गांधी परिवार से एसपीजी सुरक्षा विस्तृत मूल्यांकन के बाद वापस लिया गया है । 28 सालों के बाद गांधी परिवार एसपीजी सुरक्षा के बिना रहेगा। उन्हें सितंबर 1991 में एसपीजी अधिनियम 1988 में संशोधन के बाद वीवीआईपी सुरक्षा सूची में शामिल किया गया था। अब देश में सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास एसपीजी सुरक्षा होगी।

Indira Gandhi death anniversary: पीएम मोदी और सोनिया गांधी समेत कई प्रमुख नेताओं ने दी इंदिरा गांधी को दी श्रद्धांजलि

पहले केवल प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्रियों को दी जाती थी एसपीजी सुरक्षा
गांधी परिवार को सीआरपीएफ कर्मियों द्वारा कवर किया जाएगा। इस साल अगस्त में, सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के एसपीजी कवर को वापस ले लिया था। बता दें कि शुरू में एसपीजी सुरक्षा देश में केवल प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्रियों को दी जाती थी लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद एसपीजी अधिनियम में संशोधन किया गया, जिसके तहत सोनिया गांधी और उनके बच्चों को एसपीजी सुरक्षा दी गई। 31 अक्टूबर, 1984 को इंदिरा गांधी की उनके ही सुरक्षा गार्डों द्वारा हत्या के बाद देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए एक अलग बल की आवश्यकता महसूस की गई, जिसके बाद एसपीजी का निर्माण हुआ ।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk