दुबई (पीटीआई)। अंडर 19 वर्ल्डकप फाइनल में मैच के बाद बांग्लादेशी और भारतीय खिलाड़ियों के बीच हुई झड़प की जांच आईसीसी ने की है। क्रिकेट के इस सर्वोच्च संस्था ने जांच के बाद तीन बांग्लादेशी और दो भारतीय खिलाड़ियों को दोषी पाया है। इसमें भारत के आकाश सिंह और रवि विश्नोई का नाम शामिल है जबकि बांग्लादेश के मोहम्मद तौहीद, शमीम होसैन और रकीबुल हसन को दोषी पाया गया है। रविवार को साउथ अफ्रीका के पोचेफस्ट्रूम में जब बांग्लादेश ने पहली बार वर्ल्डकप जीता तो टीम के खिलाड़ी होश खो बैठे और मैदान में आते ही उन्होंने भारतीय खिलाड़ियों के साथ लड़ाई शुरु कर दी। इसका एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है।

पांचों खिलाड़ियों को पाया गया दोषी

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने एक बयान जारी करते हुए कहा, 'पांच खिलाड़ियों पर लेवल 3 का चार्ज लगाया गया है। इन सभी ने आर्टिकल 2.21 का उल्लंघन किया है जिसमें प्लेयर व सपोर्ट पर्सनल के साथ अभद्रता करने पर दोषी माना जाता है। इन सभी पांचो खिलाड़ियों ने गलती कबूल ली है। इन प्लेयर्स पर कार्रवाई मैच रेफरी ग्रीम लेब्राॅय के कहने पर हुई है।'

क्या हुआ था मैदान में

रविवार को भारत बनाम बांग्लादेश के बीच अंडर 19 वर्ल्डकप फाइनल खेला गया था। बांग्लादेश टीम पहली बार फाइनल में पहुंची थी। ऐसे में खिलाड़ी काफी जोश में थे। भारत की बल्लेबाजी की दौरान बांग्लादेशी गेंदबाजों ने काफी स्लेजिंग भी की थी। हद तो तब हो गई जब बांग्लादेश ने मैच जीत लिया और उनके खिलाड़ियों ने अलग अंदाज में जश्न मनाया। कुछ बांग्लादेशी प्लेयर्स मैदान में आकर भारतीय खिलाड़ियों से उलझ गए। माहौल काफी गरम हो गया और सभी एक-दूसरे से भिड़ गए।

बांग्लादेशी कप्तान ने मांगी थी माफी

इस पूरे वाक्ये के बाद बांग्लादेश के अंडर 19 टीम के कप्तान अकबर अली ने माफी भी मांगी थी। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अकबर का कहना था कि वह अपनी टीम के खिलाड़ियों द्वारा किए गए शर्मनाक व्यवहार से शर्मिंदा है। यह जेंटलमैन गेम है, इसमें इस तरह की किसी भी गलत व्यवहार का समर्थन नहीं किया जा सकता।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk