-यूटिलिटी पलटने से चालक भी गंभीर घायल

-मरने वाले युवक की 2 जनवरी को थी सगाई

VIKASHNAGAR (JNN) : देहरादून पांवटा हाइवे पर यूटिलिटी की चपेट में आकर साइकिल सवार मां बेटे की मौत हो गई. हादसे के बाद यूटिलिटी एक मकान के आंगन में जाकर पलटने से चालक गंभीर रूप से घायल हो गया. यूटिलिटी घर के आंगन में घुसकर पलटने से पूरा परिवार सहमा हुआ है. पुलिस ने दोनों शवों का पंचनामा भरकर उन्हें पोस्टमार्टम के लिए देहरादून भेजा है.

मां बेटे की मौके पर ही मौत

जानकारी के अनुसार सूरज पाल ख्ब् पुत्र लक्ष्मीचंद निवासी सभावाला सोमवार को सूरज साइकिल से अपनी मां मंगो देवी (भ्भ्) के साथ अपने मामा धनीराम के घर से साढे़ नौ बजे मां के साथ साइकिल से अपने घर लौट रहा था. जैसे ही उसकी साइकिल लक्खनवाला चौक के पास पहुंची कि हाइवे किनारे एक बड़ा गड्ढा बचाने के चक्कर में देहरादून की ओर से आती यूटिलिटी अचानक अनियंत्रित साइकिल सवार मां बेटे को रौंदा और फिर हाइवे किनारे एक घर के आंगन में पलट गई. जिससे यूटिलिटी चालक अब्दुल रज्जाक निवासी त्यूणी गंभीर घायल हो गया. हाइवे में मां मंगो देवी व सूरज की मौके पर ही मौत हो गई. मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष यशपाल बिष्ट ने आपातकालीन सेवा क्08 से सीएचसी विकासनगर भेजा.

एसएसपी के निर्देश पर पहुंचे एनएच अधिकारी

एसएसपी पुष्पक ज्योति ने हाइवे किनारे गड्ढे के संबंध में एनएच रुड़की के अधिकारियों से संपर्क साधा. एनएच अधिकारी मंगलवार को सहसपुर थाने पहुंचे, जहां पर सीओ एसके सिंह ने अधिकारियों को हाइवे किनारे के गड्ढे भरने को कहा. पुलिस ने देहरादून पांवटा हाइवे की देखरेख करने वाले एनएच रुड़की के अधिकारियों को हाइवे के वे सारे प्वॉइंट दिखाए, जहां पर हादसे होते हैं.

रचने से पहले ही धुल गई मेहंदी

बिहारीगढ़ क्षेत्र के जिस गांव से सूरज की सगाई होने थी, उस लड़की की मेहंदी रचने से पहले ही धुल गई, संजोए अरमान रेत के महल की तरह ढेर हो गए. वहीं सभावाला में सूरज के घर पर चल रही सगाई व शादी की खुशियां मातम में बदल गई. सूरज के तीन भाई व एक बहन है, सबसे बड़ा सूरज ही होने के कारण घर व रिश्तेदारों में खुशी का आलम था, लेकिन जैसे ही परिवार को पता चला कि सूरज व मंगो देवी की मौत हो गयी तो पूरा परिवार सदमे में आ गया.