लखनऊ (पीटीआई/आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राम मंदिर निर्माण के लिए एक ट्रस्ट की घोषणा करने के तुरंत बाद उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार ने मस्जिद के निर्माण के लिए अयोध्या में सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन आवंटित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। मस्जिद के लिए दी गई भूमि अयोध्या से लखनऊ-अयोध्या मार्ग रौनाही में है। इस संबंध में राज्य सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने संवाददाताओं को बताया कि बताया कि बुधवार सुबह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई और उसमें ही यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड को जो पांच एकड़ जमीन आवंटित की गई है वह अयोध्या मुख्यालय से 18 किलोमीटर दूर लखनऊ राजमार्ग पर सोहावल तहसील के गांव धन्नीपुर में है।

9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट ने दिया था आदेश

उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि भूमि आवंटन का प्रस्ताव 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुपालन में था जिसमें कहा गया था कि मस्जिद निर्माण के लिए पांच एकड़ जमीन मुस्लिम पक्ष सुन्नी वक्फ बोर्ड को दी जानी है।इस फैसले के बाद जब उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य से जब उनकी प्रतिक्रिया के बारे में पूछा गया तो उन्होंने हाथ उठाकर जय श्री राम, हो गया काम के नारे लगाए।

राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गई

डिप्टी सीएम ने कहा राम मंदिर निर्माण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। आज प्रधानमंत्री ने दिल्ली में राम मंदिर निर्माण के लिए एक ट्रस्ट की घोषणा की है। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मस्जिद के लिए जमीन आवंटित कर दी है। इस संबंध में सुन्नी वक्फ बोर्ड के प्रवक्ता का कहना है कि इस मुद्दे पर फैसला बोर्ड की बैठक में लिया जाएगा। वहीं राम जन्मभूमि न्यास के मुख्य ट्रस्टी महंत नृत्य गोपाल दास की सुरक्षा बुधवार को बढ़ा दी गई।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk