नैनी एक्सप्रेस ने पहुंचे 160 पैसेंजर, जांच के बाद सभी क्वारंटीन

जनशताब्दी से 435 और नैनी एक्सप्रेस से 370 पैसेंजर रवाना हुए

देहरादून। दून स्टेशन से ट्यूजडे को दो स्पेशल ट्रेन से 805 पैसेंजर को रवाना किया गया। देहरादून आई नैनी एक्सप्रेस से 160 पैसेंजर आये। दून से रवाना हुए पैसेंजर्स को स्क्रीन टेस्ट के बाद गाडि़यों में बिठाया गया, जबकि दून पहुंचे सभी पैसेंजर्स को होम क्वारंटीन नियमों का पालन करने के सख्त निर्देश दिये गये। गाड़ी रवाना होते वक्त स्टेशन पर कई बार अव्यवस्था भी नजर आई। जनशताब्दी से 435 पैसेंजर्स दिल्ली के लिए जबकि नैनी एक्सप्रेस से 370 पैसेंजर्स काठगोदाम रवाना हुए।

सुबह रवाना हुई जनशताब्दी

सुबह पांच बजे जनशताब्दी एक्सप्रेस रवाना हुई। इसे रवाना करने के लिए सुबह 3 बजे ही टीमें मोर्चे में जुट गई थी। ट्रेन छूटने के 90 मिनट पहले ही पैसेंजर पहुंच गए थे। इस ट्रेन से 435 पैसेंजर दिल्ली के लिए रवाना हुए। सभी की स्क्री¨नग कर उन्हें ट्रेन में बिठाया गया। इनमें कुछ ऐसे थे जिन्हें गुजरात, मध्य प्रदेश आदि स्टेट को जाना था, लेकिन दून से सीधी ट्रेन न होने के कारण वे जनशताब्दी से रवाना हुए।

दोपहर को पहुंची नैनी एक्सप्रेस

दोपहर 12:30 बजे काठगोदाम से नैनी एक्सप्रेस रेलवे स्टेशन पहुंची। ट्रेन से 160 पैसेंजर दून पहुंचे थे। घर पहुंचने पर सभी के चेहरे में खुशी से खिले थे। सभी पैसेंजर का रजिस्ट्रेशन और मेडिकल जांच कर उन्हें होम क्वारंटीन करने के सख्त निर्देश दिए गए। 3.30 बजे नैनी एक्सप्रेस में 370 पैसेंजर्स काठगोदाम रवाना हुए।

आरोग्य सेतु ऐप किया चेक

सभी पैसेंजर्स के आरोग्य सेतु ऐप की उनके मोबाइल फोन में जांच की गई। रेलवे के डॉक्टर ने थर्मल स्क्रीनिंग की। सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन किया गया। सभी यात्रियों ने मास्क पहना हुआ था।

थर्मल स्क्रीनिंग में सब ओके

ट्रेन में बैठाने से पहले यात्रियों की थर्मल स्क्री¨नग कराई गई। ट्रेन में केवल वो ही यात्री सवार हो सके जिनका टिकट कन्फर्म था। स्क्री¨नग के दौरान किसी भी यात्री कोरोना के लक्षण नहीं मिले। नई दिल्ली जनशताब्दी के लिए 500 रिजर्वेशन हुए थे, लेकिन इनमें से केवल 435 यात्री ही स्टेशन पहुंचे। बाकी यात्रियों ने अपने टिकट कैंसिल करा लिए थे।

दिल्ली से आने वालों पर नजर

नई दिल्ली से आने वाले यात्रियों को जिला प्रशासन क्वारंटीन सेंटरों में रखेगा। जबकि काठगोदाम से आ रहे यात्रियों को होम क्वारंटीन किया जाएगा।

जनरल बोगी का रिजर्वेशन

पहले जनरल बोगी में टिकट की बु¨कग आसानी से हो जाती थी। लेकिन अब अगर ट्रेन की बोगी में सीट नहीं है तो इसका टिकट मिलना संभव नहीं है। जनरल बोगी में अगर सीट नहीं है तो टिकट नहीं मिल पाएगी। इस बोगी में 90 सीट हैं। इनके लिए भी बुकिंग की जाएगी।

अव्यवस्था का आलम

गाड़ी रवाना करते समय स्टेशन पर अव्यवस्था दिखी। ट्रेन पहुंचने के बाद भी 20-25 मिनट तक प्रशासन की स्क्रीनिंग यह नहीं समझ पा रही थी कि कहां स्टैम्प लगाएं गया क्या करें। इसके बाद उन्होंने रजिस्ट्रेशन करा कर वापस भेज दिया और होम क्वारंटीन के लिए कह दिया।

सुबह से सभी पैसेंजर की स्क्री¨नग कर और रजिस्ट्रेशन कर भेजा जा रहा है। इस दौरान सभी के फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड है या नहीं इसकी भी जांच की जा रही है।

गणेश चंद्र ठाकुर, निदेशक, रेलवे स्टेशन दून

Posted By: Inextlive