-सीएमपी डिग्री कॉलेज में स्टूडेंट्स के लिए पर्सनैलिटी डेवलेपमेंट को लेकर हुई वर्कशॉप, डीआईजी केपी सिंह ने दिए टिप्स

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: पर्सनैलिटी हमेशा ही कॅरियर संवारने में मददगार साबित होती है. ऐसे में स्टूडेंट्स को हमेशा ही पर्सनैलिटी डेवलेपमेंट पर फोकस करने के लिए कहा जाता है. ऐसे में अगर सीनियर आईपीएस पर्सनैलिटी डेवलपमेंट को लेकर टिप्स दें तो जाहिर सी बात है यह काफी हेल्पफुल होगी. ऐसा ही नजारा शुक्रवार को सीएमपी डिग्री कॉलेज के समाजशास्त्र विभाग में देखने को मिला. मौका था पर्सनैलिटी डेवलपमेंट के लिए कॉलेज परिसर में आयोजित व्याख्यानमाला का. यहां डीआईजी केपी सिंह ने स्टूडेंट्स को पर्सनैलिटी डेवलपमेंट के लिए कई टिप्स दिए. इसके पहले चीफ गेस्ट डीआईजी केपी सिंह ने दीप प्रज्वलित कर प्रोग्राम की शुरुआत की. इस मौके पर अध्यक्षता चौधरी जितेन्द्र नाथ सिंह ने किया.

सिर्फ पढ़ाई से नहीं होता व्यक्तित्व विकास

डीआईजी केपी सिंह ने कहा कि केवल किताबें पढ़ने से किसी भी स्टूडेंट का विकास नहीं होगा. पढ़ाई तो खुद व्यक्तित्व का एक अंग हैं. पढ़ाई के साथ कल्चरल प्रोग्राम्स में भी हिस्सा लेना चाहिए. केवल किताबी कीड़ा होने से कोई सफल नहीं होता. विशिष्ट अतिथि एसपी क्राइम आशुतोष मिश्र ने कहा कि मेहनत ही सफलता का कुंजी हैं. अगर जीवन में किसी भी क्षेत्र में सफल होना हैं तो ईमानदारी से बिना फल की चिंता किये अपने कायरें को करते रहें. इस दौरान चीफ गेस्ट ने गुरुवार को आयोजित प्रतियोगिताओंके विनर्स को पुरस्कृत भी किया. आयोजक असिस्टेंट प्रोफेसर अनन्त सिंह ने मंच का संचालन किया. कार्यक्रम में डॉ. विजय लक्ष्मी, डॉ. भूपेश त्रिपाठी, डॉ. शशि बाला, डॉ. शशि पांडेय, एसपी सिटी बृजेश कुमार श्रीवास्तव, निदेशक द कौंसिल और समग्र संस्था अनुज सिंह, प्राचार्य सीएमपी डिग्री कालेज डॉ बृजेश कुमार समेत बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स मौजूद रहे.