-महिलाओं को हुनरमंद बनाया जाना समय की जरूरत: सीएम

-महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने को सरकार की पहल

देहरादून, सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने थर्सडे को चीड़ोवाली-कंडोली में उत्तराखंड महिला समेकित विकास योजना के तहत कॉमन फेसिलिटी सेन्टर के तहत द्विवर्षीय महिला स्किल ट्रेनिंग सेंटर का शुभारंभ किया. सेंटर में 120 स्थानीय महिलाओं को जूट व सूती बैग बनाने की ट्रेनिंग दी जा रही है.

मजबूत हों महिलाएं

सीएम ने कहा कि महिलाओं को हुनरमंद बनाया जाना समय की जरूरत है. महिलायें मजबूत हुई तो परिवार, समाज व देश मजबूत होगा. ग्रामीण क्षेत्रों में खेती के साथ ही जीविका के अन्य साधनों का विकल्प रहता है. जिसका शहरी क्षेत्रों में अभाव रहता है. महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिये राज्य सरकार द्वारा पहल की जा रही है. उद्यमिता के क्षेत्र में महिलायें 5 हजार तक ओवर ड्राफ्ट ले सकती हैं. महिला समूहों को एग्रोबेस उद्यम के लिये 5 लाख तक शून्य प्रतिशत ब्याज पर लोन उपलब्ध कराया जा रहा है.

देवभूमि प्रसाद योजना

सीएम ने कहा कि इस वर्ष केदारनाथ में महिला समूहों ने 2 करोड़ का प्रसाद बिक्री किया. राज्य में 625 मन्दिरों में देवभूमि प्रसाद योजना शुरू की जा रही है. मंशादेवी, बदरीनाथ, जागेश्वर, बागेश्वर से भी इसकी शुरूआत हो गयी है. आज चौलाई 55 रुपए केजी बिक रहा है. एसीएस राधा रतूड़ी ने बताया कि महिला समेकित विकास योजना के तहत जानकी देवी एजुकेशन वेलफेयर सोसायटी द्वारा इस प्रशिक्षण केन्द्र का संचालन किया जा रहा है. जहां पालीथीन के स्थान पर जूट व सूती व फाइबर से बने विभिन्न उत्पादों व अन्य सामग्री की ट्रेनिंग व निर्माण महिलाओं द्वारा किया जायेगा.