lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने भाई आनंद कुमार की संपत्तियों को आयकर विभाग द्वारा अटैच किए जाने पर भाजपा पर भड़ास निकाली। शुक्रवार को उन्होंने अपने जारी बयान में कहा कि इसमें संदेह नहीं कि बीजेपी व आरएसएस पहले नंबर की जातिवादी पार्टी व संगठन हैं, जो दलितों, आदिवासियों व अन्य पिछड़े वर्गों के लोगों को आगे बढ़ते हुये देखना नहीं चाहते। इस पार्टी के लोग व इनके रिश्तेदार रातों-रात धन्नासेठ बन जाते हैं तो वे उसे जायज ठहराते हैं और यदि हमारे इन वंचित वर्गों में से कुछ लोग कारोबार करने के मामले में थोड़ा भी आगे बढ़ते है तो इन्हें तकलीफ होती है।

मायावती के भाई आनंद और भाभी विचित्र पर IT की बड़ी कार्रवाई, 400 करोड़ की बेनामी सम्पत्ति जब्त

अपने गिरेबान में झांककर देखें
उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग इस मामले में अंगुली उठाने से पहले खुद अपने गिरेबान में झांककर देखें। चुनाव के दौरान लगभग 2 हजार करोड़ से ज्यादा धन जो इनके बैंक खाते में आया है, उसका भी खुलासा देश के सामने अब तक नहीं किया गया है कि यह कहां से आया। क्या यह बीजेपी की बेनामी सम्पत्ति नहीं है? उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी ने पूरे देश में हर जगह अपनी पार्टी कार्यालय आदि के लिए अरबों-खरबों रुपये की संपत्ति खरीदी है। यह धन बीजेपी के पास कहां से आया। क्या यह अकूत धन भी बीजेपी एण्ड कम्पनी की बेनामी संपत्ति नहीं है?

National News inextlive from India News Desk