-कंपनी के पंजीयन के लिए ऑनलाइन हुआ आवेदन

-दीपावली से पहले होगा एसपीवी का गठन और पंजीयन

varanasi

बनारस को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए तेज रफ्तार में काम हो रहा है. दीपावली से पहले एसपीवी (विशेष प्रयोजन साधन) गठन व पंजीयन अधिकारिक रूप से कर लिया जाएगा.

इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कर दिया गया है. एसपीवी के तहत कंपनी का नाम तय कर लिया गया है. इसके तहत एसपीवी वाराणसी स्मार्ट सिटी नाम दिया गया है. पंजीकृत एसपीवी के चेयरमैन कमिश्नर तो सीईओ नगर आयुक्त होंगे. इसके अलावा कार्यदायी संस्था जैसे जल निगम, वीडीए, बिजली विभाग, पीडब्यूडी, पर्यटन विभाग आदि व प्रबंधन से जुड़े विभागों जैसे नगर निगम, जलकल विभाग आदि के प्रमुख अधिकारी भी सदस्य के तौर पर शामिल होंगे. कंपनी की पहली बैठक के साथ ही स्मार्ट सिटी मिशन के तहत बनी योजनाओं पर काम शुरू हो जाएगा.

प्लानिंग होगी महत्वपूर्ण

नगर आयुक्त डॉ. श्रीहरि प्रताप शाही के अनुसार नगर स्तर पर कंपनी अधिनियम ख्0क्फ् के अनुसार कानपुर में एसपीवी का पंजीयन होगा. स्मार्ट सिटी मिशन में प्लानिंग का लेवल महत्वपूर्ण होगा. सफलता कार्यान्वयन पर निर्भर करेगी. उत्तर प्रदेश के सभी नगर निगम व नगर पालिकाओं की आय अन्य राज्यों के शहरों के सापेक्ष बहुत कम है. ऐसे में बड़ी योजनाओं को प्रस्तावित करने की बजाए छोटी योजनाओं को बनाने व अन्य विभागों की योजनाओं को भी शामिल किया गया है. ख्भ्ख्0 करोड़ का प्रस्ताव स्मार्ट सिटी के लिए तैयार किया गया है. पांच वर्ष में कार्य पूरा करने का लक्ष्य है. प्रस्तावित बजट में ख्भ् फीसद धनराशि ऐतिहासिक धरोहरों के सुंदरीकरण व जीर्णोद्धार पर तो म्भ् फीसद धनराशि क्षेत्र के विकास में व्यय होगाी. नौ फीसद धनराशि आकस्मिक जरूरतों को पूरा करने के लिए तो एक फीसद धनराशि प्रशासनिक व कार्यालय प्रबंधन में खर्च होगी.