- विधानसभा में लीडर अपोजिशन के चले तीर पर तीर

- नीतीश पर केंद्रित भाषण के दौरान होती रही कानाफूसी

patna@inext.co.in

PATNA : बीजेपी के एमएलए बिहार विधानसभा आए तो नरेन्द्र मोदी छाप टोपी पहनना नहीं भूले. भगवा टोपी. विश्वासमत के दौरान लीडर अपोजिशन ने नीतीश कुमार पर खूब ताने मारे. बीच-बीच में टोका-टोकी भी होती रही. कांग्रेस का सपोर्ट लेने पर कहा कि कांग्रेस के राज में देश भर में फ्फ् हजार दंगे हुए. भागलपुर, असम में दंगा के समय वहां कौन सीएम थे. किसकी गवर्नमेंट थी. सदन में नीतीश कुमार नहीं थे पर नंदकिशोर यादव का पूरा भाषण नीतीश कुमार पर ही केंद्रित रहा. नंदकिशोर की वे क्ब् बातें जो चर्चा में रहीं.

क्. नया जनादेश लेना चाहिए था पर कुर्सी का मोह छूट नहीं रहा. काम किया तो अश्विनी चौबे, गिरिराज, सिग्रीवाल ने. इसलिए ये सब लोकसभा में जीत कर आए. आपने क्या किया? नैतिकता का चीरहरण.

ख्. गैरकांग्रेसवाद का नारा, लोहिया और जेपी का नारा कहां गया? कांग्रेस से चार वोट पाने के लिए लोहिया और जेपी को भूल गए.

फ्. जेडीयू के भ्0 विधायक लोकसभा इलेक्शन के दौरान हमारे साथ थे. बीजेपी को जीत दिलाने में मदद करने के लिए उन्हें धन्यवाद. वे कौन लोग हैं हम उन्हें नंगा नहीं करना चाहते. हम तो उन्हें आशीर्वाद देना चाहते हैं.

फ्. किशनगंज में अख्तरूल ईमान ने मैदान छोड़ जेडीयू आरजेडी गठजोड़ को उजागर किया. अररिया, कटिहार, भागलपुर में आपने आरजेडी-कांग्रेस से दोस्ती कर ली.

ब्. आप लोगों ने समता पार्टी क्यों बनाई थी, अब फिर से आरजेडी के साथ पुरानी दोस्ती याद आ रही है.

भ्. जिस मां-बेटी पर आप टिप्पणी करते थे उस पार्टी से गद्दी के लिए दोस्ती कर ली आपने.

म्. नरेन्द्र मोदी की वजह से बिहार की सत्ता पर गरीब का बेटा बैठा है, लेकिन तरीका ठीक नहीं.

7. धर्मसंकट से छुटकारा चाहते थे आप. दल में विद्रोह की स्थति थी. आप उसे डायवर्ट करना चाहते थे. पराजय की चर्चा को डायवर्ट करना चाहते थे. ख्0क्भ् में जनता सवाल पूछती कि वादों का क्या हुआ. बिजली कहां गई? जवाब देने से भागने के लिए अपने ऐसा किया.

8. नाटक चालू आहे. अभी पूरा पर्दा नहीं उठा है. धीरे-धीरे उठ रहा है. मिल गए आप सब. हम जानना चाहते हैं कि इस अनैतिक गठबंधन की कीमत क्या तय हुई है. अंदरखाने में क्या समझौते हुए हैं. आपकी सरकार जिसके खिलाफ जनादेश लेकर बनी थी, अब उसी का साथ ले रहे हैं.

9. गांधी मैदान में चूक का बदला जनता ने लिया. किस नैतिकता की बात करते हैं आप?

क्0. बीजेपी का एक भी कार्यकर्ता अगर जिंदा रहेगा तो क्भ् साल के कुशासन को कभी वापस नहीं आने देंगे.

क्क्. जीतन राम मांझी जी अगर आप विधायक दल की बैठक में लगाए बंधन काट लेते हैं तो आपका अभिनंदन है. नैतिकता की बलिबेदी पर बन गया गठबंधन.

क्ख्. बबूल के पेड़ में गरम पानी डालने वाले अब उसमें खाद-पानी डालेंगे.

क्फ्. जेडीयू का आरजेडी के साथ लव मैरेज चल रहा है.

क्ब्. आपके विधायक ही बोल रहे हैं कि मंत्रिमंडल के बाकी मंत्रियों ने इस्तीफा क्यों नहीं दिया. रमई राम जी के अंदर हाजीपुर से टिकट नहीं मिलने या सीएम नहीं बनने का दर्द छलक रहा है.