नई दिल्ली (एएनआई)। आज सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई कांग्रेस संसदीय दल की बैठक हुई।सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई बैठक में कई सांसदों ने राहुल गांधी से अध्यक्ष पद पर बने रहने की अपील की। उन्होंने अनुरोध किया कि पार्टी को उनकी सख्त जरूरत है। उनके अलावा कांग्रेस का नेतृत्व करने वाला कोई और नहीं है। वह इस पद को अच्छे से संभाल रहे हैं।

राहुल गांधी ने सांसदों की अपील खारिज कर दी

कांग्रेस नेताओं शशि थरूर और मनीष तिवारी ने राहुल से कहा कि पार्टी हाल ही में हुए आम चुनावों में कांग्रेस की हार की सामूहिक जिम्मेदारी लेती है। इसमें अकेले पार्टी प्रमुख को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है। हालांकि सूत्रों की मानें तो राहुल गांधी ने सांसदों की अपील खारिज कर दी। राहुल गांधी का कहना है कि वह इस्तीफा वापस नहीं लेंगे।

पार्टी अध्यक्ष पर पर बने रहने का आग्रह किया
वहीं युवा कांग्रेस के सदस्यों और कार्यकर्ताओं ने राहुल के आवास के बाहर प्रदर्शन किया और उनसे पार्टी अध्यक्ष पर पर रहने का आग्रह किया। कार्यकर्तओं का कहना था कि 'राहुल गांधी राष्ट्र को आपकी जरूरत है'। इस हफ्ते की शुरुआत में खबरें आई थीं राहुल से 4,000 से 5,000 कार्यकर्ता अपील करेंगे कि वह इस पद पर बने रहें।
राहुल गांधी के खिलाफ सिविल कोर्ट ने जारी किया सम्मन
49 साल के राहुल गांधी मार्शल आर्ट्स में हैं ब्लैक बेल्ट, उनकी ये 10 बातें शायद ही आप जानते हों
कांग्रेस अध्यक्ष के पद से इस्तीफे का ऐलान

बता दें कि हाल ही में लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 25 मई को पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा देने का ऐलान किया था। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन काफी खराब था। कांग्रेस सिर्फ 52 सीटें जीत पाई है जबकि सत्ताधारी भाजपा ने 303 सीटों के साथ सत्ता में दोबारा वापसी की।

National News inextlive from India News Desk