कानपुर। Working From Home Tips: घर से ऑफिस जॉब करने में कई बार ऐसी परेशानियां आती हैं जिनके कारण आपका काम बुरी तरह प्रभावित हो सकता है। तो चलिए जानते हैं वह खास बातें और टिप्स जिनकी मदद से आप वर्क फ्रॉम होम में भी बेहतर काम करके उसे इंज्‍वॉय भी कर सकते हैं। टेक्‍निकल प्राब्‍लम्‍स की आ जाती है बाढ़ - ऑफिस के काम को वर्क फ्रॉम होम में करने पर सबसे ज्यादा जो प्रॉब्लम फेस करनी होती है। उनमें टेक इश्‍यूज सबसे ज्‍यादा होते हैं। जिनके कारण घर के पसंदीदा इन्वायरमेंट में भी आपकी प्रोडक्टिविटी प्रभावित होकर धीमी पड़ सकती है। जैसे मोबाइल या ब्रॉडबैंड पर इंटरनेट की स्पीड कम हो जाना, लो क्वालिटी वाली वीडियो कॉल्स- कॉन्फ्रेंसिंग या लैपटॉप में तमाम तरह के सॉफ्टवेयर और VPN एक्सेस से जुड़े इश्यूज जिनके कारण आपके वर्क फ्रॉम होम में कीमती घंटे यही सब ठीक करने में बर्बाद हो सकते हैं।

धीमी स्पीड वाले इंटरनेट की प्रॉब्लम कैसे सॉल्व करें

टेक एक्सपर्ट बताते हैं कि वर्क फ्रॉम होम शुरू करने से पहले आपको एक बेहतर ब्रॉडबैंड कनेक्शन या फिर हाई क्वालिटी वाईफाई राउटर की जरूरत पड़ेगी। अगर आप अपने मोबाइल फोन के हॉटस्पॉट के जरिए ऑफिस का भारी-भरकम काम निपटाना चाहते हैं तो जान लीजिए कि आपका काम अटक अटक कर ही हो पाएगा। तो वर्क एट होम शुरु करने से पहले एक बेहतर इंटरनेट वाईफाई राउटर मैनेज कर लें। घर से ऑफिस का काम करने के लिए आपको फास्ट इंटरनेट स्पीड के साथ ही काफी मात्रा में इंटरनेट डाटा की जरूरत पड़ेगी ऐसे में अगर पॉसिबल हो तो ब्रॉडबैंड कनेक्शन पर अनलिमिटेड या फिर कम से कम 100 या 200 जीबी डाटा का मिनिमम प्लान एक्टिवेट करा लें। या किसी स्‍मार्टफोन, मोबाइल वाईफाई राउटर पर अपनी अनुमानित खपत के अनुसार डाटा प्लान रिचार्ज करवा लें तभी आप वर्क फ्रॉम होम में बिना किसी दिक्कत के काम कर सकेंगे और सही परफॉर्मेंस भी दे सकेंगे।

VPN का इश्‍यू कैसे करें सॉल्‍व

घर से ऑफिस का काम करने के लिए तमाम आईटी और अन्य कंपनियां अपने एंप्लाइज के लैपटॉप पर अपने खास पर्सनल सर्वर का एक्सेस देने के लिए वीपीएन (Virtual Private Network) सर्विस प्रोवाइड कराती हैं। वीपीएन एक्सेस के द्वारा यूजर किसी भी कंपनी के इंटरनेट के द्वारा ऑफिस के इंटरनल सर्वर, शेयर ड्राइव और मेल सर्वर को एक्सेस कर सकता है, लेकिन कोरोना इफेक्‍ट के कारण जब ज्यादातर लोग वीपीएन से घर पर काम कर रहे हों तो वीपीएन पर भी बहुत ज्यादा लोड बढ़ जाता है। इससे उसका नेटवर्क बार बार टूट सकता है या उसकी स्‍पीड स्‍लो हो सकती है। ऐसे में अपनी कंपनी की संबंधित टेक टीम से पहले ही बात कर लें कि अगर वीपीएन काम ना करें, फेल मैसेज आए या स्लो हो जाए तो आपको क्या करना है और किसकी मदद लेनी है।

working from home tips: अगर coronavirus के कारण घर आ गया है पूरा ऑफिस वर्क,तो ऐसे बनाएं काम को आसान

छोटे कंप्‍यूटर मॉनीटर का सॉल्‍यूशन

घर पर ऑफिस का काम करने पर कई बार कंप्यूटर स्क्रीन के छोटे होने की भी दिक्कत फेस करनी पड़ती है। जो लोग अपने ऑफिस में 21-27 इंच या उसके आसपास के मॉनिटर या आईमैक पर काम करते हैं, उनके लिए एक छोटे से लैपटॉप पर वही काम करना बहुत ही मुकिश्‍ल हो जाता है। ऐसे में टेक एक्‍सपर्ट्स की यही आसान सलाह हो सकती है कि आप अपने लैपटॉप से सेकंड मॉनिटर के तौर पर अपने घर के टेलीविजन या स्मार्ट टीवी को कनेक्ट कर लें। इससे आपको अपना ऑफिस वर्क बड़ी स्क्रीन पर साफ-साफ नजर आएगा और आपका काम आसान हो जाएगा।

Coronavirus के कारण अगर कर रहे हैं Work From Home तो आपके बहुत काम आएंगे यह चीप एंड बेस्ट Internet Plan

कंफर्टेबल चेयर या टेबल की प्रॉब्‍लम

ऑफिस में आप भले ही कितनी शानदार और कंफर्टेबल चेयर पर बैठते हो, लेकिन घर पर वैसी टेबल और कुर्सी उपलब्ध ना होने पर कई बार वर्क फ्रॉम होम काफी उलझन भरा और परेशान करने वाला हो जाता है। ऐसे में आपको सजेशन है कि आप एक बेहतर और पीठ को आराम देने वाली चेयर मैनेज कर लें ताकि 8-10 घंटे काम करने के बाद आप कमर, पीठ या गर्दन के दर्द से परेशान नजर ना आएं।

शोरगुल से हों परेशान तो करें ये काम

ऑफिस के वर्क इनवॉयरमेंट में तो बेवजह का शोर-शराबा नहीं होता लेकिन जब वही काम हम घर पर करते हैं, तो फैमिली में अन्य लोगों की बातचीत खासतौर पर बच्चों का शोर-शराबा और खेलकूद की आवाजें आपका काम करना मुश्किल बना सकती हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा ही कुछ है तो फौरन ही कोई अच्छा नॉइस कैंसिलेशन ईयर बेड Earphone परचेस कर लें ताकि घर के शोर-शराबे के बीच भी आप शांति से अपना काम कर सकें।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर करनी हो मीटिंग

अगर आपका काम ऐसा है कि आपको वर्क फ्रॉम होम के दौरान भी कई बार अपने टीम हेड या अपनी टीम के साथ वीडियो चैट या कॉन्फ्रेंसिंग करनी पड़ती है। तो आप पहले से ही अपनी सिटिंग पोजीशन ऐसी बना लें कि आपके लैपटॉप के वेबकैम में पीठ पीछे लोगों का आना जाना, बातें करना जैसी गतिविधियां नजर ना आएं।

Posted By: Chandramohan Mishra

Technology News inextlive from Technology News Desk