- केजीएमयू प्रशासन ने शासन से की थी तैनाती की मांग

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW:

केजीएमयू प्रशासन ट्रॉमा की इमरजेंसी सेवाओं में सुधार के लिए प्रांतीय चिकित्सा सेवा संवर्ग 'पीएमएस' के डॉक्टरों की मदद लेगा. यहां पीएमएस के चार डॉक्टरों की तैनाती की जाएगी. फिलहाल अभी एक डॉक्टर मिल भी गया है.

1 मेडिकल ऑफिसर तैनात

ट्रॉमा सेंटर में डेली 350 से ज्यादा मरीज आते हैं. इसमें 120-150 मरीज ही भर्ती हो पाते हैं. ट्रॉमा में मरीजों के बढ़ते दबाव की वजह से इमरजेंसी में हमेशा भीड़ बनी रहती थी. मरीजों को इन्ही दिक्कतों से बचाने के लिए इमरजेंसी में डॉक्टरों की संख्या बढ़ाई जा रही है. केजीएमयू ने ट्रॉमा में बेहतर इलाज के लिए चार और डॉक्टरों की मांग की थी. जिसके बाद शासन ने उन्नाव के सीएचसी में तैनात डॉ समीर कुमार को एक वर्ष की प्रतिनियुक्ति पर केजीएमयू ट्रॉमा भेजा है.