-हर घाट पर फ्लैक्स से लिखा रहेगा नाम

patna@inext.co.in

PATNA: राजधानी में छठ पर्व की तैयारी शुरू हो गई है. सुरक्षा दृष्टि को देखते हुए प्रशासन ने भी अपना खाका तैयार कर लिया है. मंगलवार को कमिश्नर संजय कुमार अग्रवाल ने अधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि छठ से संबंधित नियंत्रण कक्ष स्थापित करें. नियंत्रण कक्ष के प्रभारी पदाधिकारी सुधीर कुमार, पीजीआरओ तथा नगर निगम के अपर नगर आयुक्त देवेन्द्र तिवारी रहेंगे. कमिश्नर ने निर्देश दिया कि छठ नियंत्रण कक्ष चार भागों में बांटा रहेगा. सभी 21 जोन को चार भागों में विभाजित कर नियंत्रण कक्ष से संपर्क करेंगे. इसके साथ ही डेंजर जोन पर लाल कपड़ा बांधा जाएगा.

रोज 6 बजे होगी समीक्षा

कमिश्नर ने जिला पदाधिकारी, पटना को निर्देश दिया कि छठ महापर्व के तैयारी से संबंधित समीक्षा हर रोज शाम 6 बजे नियमित रूप से करें. वाट्सएप पर प्राप्त सूचनाओं पर क्या कार्रवाई हुई, इसकी भी समीक्षा करेंगे. कमिश्नर ने निर्देश दिया कि सभी सेक्टर पदाधिकारी अपने अधिनस्थ घाटों का बैरिकेडिंग कराएंगे. बैरिकेडिंग के बीच में स्पष्ट रूप से घाट का नाम का फ्लैक्स लगा रहना चाहिए. सभी घाटों की समुचित सफाई होना चाहिए.

डेंजर घाट पर तैनात

होंगे चौकीदार

कमिश्नर ने सभी नोडल पदाधिकारी को निर्देश दिया कि खतरनाक नदी घाटों को चिन्हित करते हुए उनकी कार्यपालक अभियंता से बैरिकेडिंग कराएंगे तथा इसकी निगरानी चैकीदार से करायी जाए, जिससे छठव्रती वैसे घाटों पर न जा पाए. इसके साथ ही कमिश्नर ने महाप्रबंधक पेसू को निर्देश दिया कि छठ घाट जाने के एप्रोच रोड पर पर्याप्त रौशनी की व्यवस्था करेंगे.

महेंद्रू घाट पर पीपापुल का होगा निर्माण

कमिश्नर ने कार्यपालक अभियंता पुल निर्माण निगम को निर्देश दिया कि बांस घाट से कलेक्ट्रेट घाट तक जाने के लिए पुल का निर्माण करेंगे ताकि रास्ता सुगम हो सके. महेन्द्रु घाट पर पीपापुल का निर्माण शीघ्र करें. साथ ही अपर जिला दंडाधिकारी विधि-व्यवस्था एवं कार्यपालक अभियंता पटना नगर निगम को निर्देश दिया कि निर्माणाधीन पुल के एप्रोच पथ को छठ में बंद रखना है.

Posted By: Inextlive