-इस बार टिकट के लिए पैसेंजर्स को नहीं होना पड़ेगा परेशान

-कुंभ के लिए तैयारियों के साथ रेलवे ने बना रखा है हर तरह का इमर्जेसी प्लान

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: चेयरमैन रेलवे बोर्ड की जिम्मेदारी संभालने के बाद पहली बार प्रयागराज पहुंचे सीआरबी विनोद कुमार यादव ने कहा कि कुंभ के दौरान किसी भी पैसेंजर्स को टिकट के लिए परेशान न होना पड़े, इसके लिए बेहतर इंतजाम किए गए हैं. तीन दर्जन से अधिक हैंड हेल्ड मशीन अवेलेबल कराई गई हैं. इसके जरिये रेल कर्मचारी घूम-घूम कर पैसेंजर्स को टिकट बांटेंगे. जिस जगह पैसेंजर्स की गैदरिंग ज्यादा होगी, वहां कर्मचारी भेजे जाएंगे. गुरुवार को सूबेदारगंज हेडक्वार्टर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए सीआरबी ने यह जानकारी दी.

हर जगह मिलेगा टिकट

सीआरबी ने कहा कि हैंडहेल्ड मशीन से जारी जनरल टिकट पंद्रह दिन के लिए मान्य रहेगा. एक टिकट पर चार लोगों का टिकट बन सकता है, जिस पर आश्रय स्थल का नंबर भी लिखा रहेगा. किस एरिया में कितने लोग आएंगे उसका पहली बार मैथमेटिकल एनालिसिस किया जा रहा है. यही नहीं छह बेड का हॉस्पिटल भी जंक्शन पर तैयार है, जहां इमर्जेसी ट्रीटमेंट किया जाएगा. सीआरबी ने कहा कि भगवान न करे कोई हादसा हो, अगर कुछ होता भी है तो उसके लिए रेलवे का अपना इमरजेंसी प्लान तैयार है, जिसे तत्काल लागू किया जाएगा.

रेलवे बोर्ड को भेजा गया है लेटर

जंक्शन का नाम प्रयागराज करने के संबंध में सवाल पूछे जाने पर जीएम एनसीआर राजीव चौधरी ने कहा कि कमिश्नर प्रयागराज का लेटर मिल चुका है, जिसे रेलवे बोर्ड को भेजा गया है. प्रस्ताव पर रेलवे बोर्ड की स्वीकृति के बाद ही नाम बदलने की प्रक्रिया शुरू होगी.

बेहतरीन है को-ऑपरेशन

सीआरबी ने कहा कि करीब 700 करोड़ रुपए की लागत से कुंभ वर्क कम्प्लीट कराया गया है. यह कुंभ के दौरान और कुंभ के बाद भी पैसेंजर्स की यात्रा को सुखद बनाएगा. एफओबी, आरओबी, स्काई वॉक सबकुछ बन कर तैयार है. इसे पब्लिक के लिए कमिशन कर दिया गया है. 130 सीसीटीवी इलाहाबाद जंक्शन के साथ ही कुल 450 कैमरे से सभी स्टेशनों व आस-पास के एरिया पर नजर रखी जाएगी. रेलवे और सिविल एडमिनिस्ट्रेशन का इस बार बेहतरीन को-ऑपरेशन है.