-मंदिरों में भव्य आयोजन की तैयारियां शुरू

-इस्कॉन मंदिर में चार दिवसीय होगा समारोह

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: रक्षाबंधन के बीतते ही हर तरफ भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई. संगम नगरी में भी जन्माष्टमी पर प्रमुख मंदिरों में होने वाले आयोजनों की रौनक दिखने लगी है. घरों के साथ मार्केट पर भी असर दिखाई दे रहा है. हर बार की तरह इस बार भी व‌र्ल्ड फेमस संस्था इस्कॉन मंदिर की ओर से कई भव्य आयोजन किए जाएंगे.

चार दिनों तक चलेगा आयोजन

इस्कॉन मंदिर में चार दिवसीय आयोजन की बावत वेडनसडे को एक पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए इस्कॉन के राष्ट्रीय सम्पर्क निदेशक ब्रजेन्द्र नंदन दास ने बताया कि भक्तों द्वारा 108 से अधिक व्यंजनों का भोग श्रीकृष्ण को अर्पित किया जाएगा. इसके अलावा 108 चांदी कलश द्वारा भगवान श्री श्री राधा वेणी माधव का महाभिषेक किया जाएगा. भगवान का भव्य श्रंगार एवं कीर्तन आकर्षण का केन्द्र होंगे. खुशी के इस अवसर पर ब्रजेन्द्र दास ने बलुआ घाट स्थित मंदिर को अपग्रेड करके और भव्य स्वरूप दिए जाने की भी घोषणा की.

56 पकवान होंगे अर्पित

बलुआ घाट स्थित मंदिर प्रांगढ़ में चार दिवसीय आयोजन का पहला दिन सांस्कृतिक कार्यक्रमों के नाम होगा. चार सितम्बर को भव्य शोभायात्रा काफी हाउस सिविल लाइंस से निकाली जाएगी. इसमें भगवान की भव्य झांकियों के साथ कीर्तन का आयोजन किया जाएगा. पांच सितम्बर को मंगल आरती, श्रंगार आरती, श्रील प्रभुपाद की गुरुपूजा, गौर आरती आदि आयोजन सुबह साढ़े चार बजे से शुरु होकर रात्रि साढ़े 12 बजे तक चलेंगे. छह सितम्बर को मंदिर में भगवान को महाप्रसाद का भोग लगाया जाएगा.

बच्चों के लिए प्रतियोगिताएं

उधर, एक अन्य जानकारी में मंदिर के संयोजक पूर्णकांत दास ने बताया कि इस्कॉन की स्थापना के पचास वर्ष पूर्ण होने पर श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर मंदिर में बच्चों के लिए विशेष प्रतियोगिताएं होंगी. इसमें सबसे मुख्य प्रतियोगिता श्लोक प्रस्तुति की होगी. जिन्हें सात सौ श्लोक याद रहेंगे, वही इस प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं इसके साथ ही ड्राइंग प्रतियोगिता, भजन प्रतियोगिता व डांस कॉम्पिटीशन का आयोजन किया जाएगा. इसमें विजयी प्रतिभागियों को मंदिर की ओर से पुरस्कृत भी किया जाएगा.