अब खुलेगा अमित हिना कनेक्शन

2020-02-22T05:46:16Z

04 जुलाई 2017

हिना मीरापुर स्थित अपने घर से निकली। उसने अपनी मां से बताया था कि वह दिल्ली जा रही है।

05 जुलाई 2017

कौशांबी के कोखराज थाना क्षेत्र में हाईवे किनारे हिना की लाश मिली। माथे पर सटाकर गोली मारी गई थी। चाकू से घाव को गहरा किया गया था।

09 जुलाई 2017

बॉडी को लावारिस मानकर दो डॉक्टरों ने हिना का पोस्टमार्टम किया। इसमें उसके साथ गैंगरेप की पुष्टि हुई।

10 जुलाई 2017

किसी दावेदार के न पहुंचने पर पुलिस ने हिना की बॉडी का अंतिम संस्कार करा दिया था।

12 जुलाई 2017

सोशल मीडिया के जरिए एक अनजान शख्स ने क्राइम ब्रांच को हिना की पहचान की सूचना दी। इसके बाद शुरू हुई घरवालों की तलाश।

14 जुलाई 2017

दो दिन की कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस मीरापुर में रह रही हिना की मां नीलिमा तलरेजा तक पहुंची। मां ने बेटी के साथ संबंध से इंकार किया। पुलिस ने खुद वादी बनकर केस दर्ज किया।

18 जुलाई 2017

क्राइम ब्रांच और कोखराज पुलिस ने सिविल लाइन्स में हुक्का बार संचालिका (जहां हिना काम करती थी) से पूछताछ की।

19 जुलाई 2017

जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को शाहगंज थानाक्षेत्र के पास रहने वाले हिना के दो दोस्तों अदनान खान और मो। खालिद के बारे में पता चला।

23 जुलाई 2017

इसी दौरान खुलासा हुआ कि हिना ने फरवरी 2015 में शाहगंज थानाक्षेत्र के रहने वाले अदनान खान से लव मैरिज की थी। यहां से शुरू हुई अदनान की तलाश।

26 जुलाई 2017

पुलिस ने हिना के पति अदनान खान और उसके दोस्त मो। खालिद को अरेस्ट कर लिया गया था।

-शहर के बड़े कारोबारी के बेटे की गाड़ी हुई थी शामिल, नाम सामने आने के बाद ठंडे बस्ते में चली गई थी फाइल

-विवेचना के दौरान पुलिस को मिले कई अहम सुराग, एनबीडब्ल्यू के बाद भी खुलेआम घूम रहा है आरोपित

vinay.ksingh@inext.co.in

PRAYAGRAJ: तीन साल पहले शहर के हाई प्रोफाइल हिना तलरेजा मर्डर केस की फाइल फिर से खुल चुकी है। विवेचक द्वारा हत्या में प्रयोग गाड़ी और उसके नंबर को ट्रेस कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि यह गाड़ी शहर के एक बड़े कारोबारी के बेटे की है। यही नहीं उस युवक के मृतका से रिलेशन काफी अच्छे थे। उधर केस री-ओपन होने की बात सामने आते ही वर्षो से खुले घूम रहे आरोपित को बचाने की कवायद भी तेज हो गई है।

एडीजी से मिलने पहुंचे लोग

गुरुवार को कुछ लोग सत्ता पक्ष के विधायक के साथ एडीजी प्रेमप्रकाश से मिलने उनके ऑफिस पहुंचे थे। उनका कहना था कि कारोबारी के बेटे को जबरदस्ती फंसाया जा रहा है। इस पर एडीजी ने कौशांबी पुलिस को विवेचना में बगैर किसी दबाव के निष्पक्ष जांच करने के निर्देश दिए हैं। एडीजी की दो-टूक जबाव सुनने के बाद आरोपित पक्ष की धड़कनें तेज हो गई हैं। वह अब विवेचक से लेकर कौशांबी एसपी पर दबाव बनाने की जुगत में हैं।

कौन थी हिना?

हिना तलरेजा। एक खूबसूरत और महत्वाकांक्षी युवती। वह अपनी मां नीलिमा के साथ मीरापुर इलाके में रूम लेकर रहती थी। हालांकि उसकी हैसियत बहुत खास नहीं थी। लेकिन उसके सपने बहुत बड़े-बड़े थे। सिविल लाइंस के हुक्का बार में काम करते हुए उसके ताल्लुकात रईसजादों से बढ़ने लगे। इसी दौरान उसे शराब पीने की लत लग चुकी थी। रईसजादों की सोहबत में उसकी शराब पीने की आदत और बढ़ती जा रही थी। इसी दौरान हिना ने शाहगंज थानाक्षेत्र के रहने वाले अदनान से शादी कर ली थी। हालांकि यह शादी उसके लिए खुशियों का कोई पैगाम नहीं लेकर आई। अदनान के घरवाले इस शादी से बिल्कुल भी खुश नहीं थे। बाद में अदनान ने दूसरी शादी कर ली थी। बताते हैं कि इस बात की जानकारी होते ही हिना ने अदनान के खिलाफ थाने में शिकायत भी दर्ज करवाई थी। शिकायत के बाद अदनान ने हिना से माफी मांग ली थी। किसी तरह उसको मना भी लिया था।

पति ने दोस्तों के साथ मिलकर मारा था

-हिना मर्डर केस में पूछताछ के दौरान अदनान ने पुलिस को बताया कि चार जुलाई 2017 की शाम उसने हिना को फोन करके होटल में खाना खाने के लिए बुलाया।

-वहां पर वह अपने दो दोस्तों खालिद और विक्की के साथ था। योजना बनी कि किसी ढाबे पर चलकर खाना खाते हैं।

-चारों कार से निकले और कानपुर रोड पर चल दिए। रास्ते में सभी ने जमकर बियर पी।

-अदनान के मुताबिक रात 10 बजे के करीब वे कौशांबी पहुंचे। वहां खाना खाया।

-इसके बाद चारों कार से वापस चल दिए। ढाबे से कुछ दूर पहुंचने के बाद ही तीनों ने हिना के साथ गैंगरेप किया।

-इस दौरान अदनान ने पिस्टल निकाली और हिना के माथे पर सटाकर गोली मार दी।

-कहीं वो बच न जाए, इसलिए गोली के घाव में चाकू डालकर घुमा दिया था। दोनों मोबाइल और पर्स भी गायब कर दिए, ताकि हिना की पहचान न हो सके।

बाहर घूम रहा एक आरोपित

अदनान ने पुलिस को बताया था कि हिना उसे ब्लैकमेल करती थी। वह इससे परेशान हो चुका था। इसीलिए उसने अपने साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी थी। इस केस में पुलिस ने अदनान और उसके एक अन्य साथी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। वहीं इस मर्डर में एक ओर आरोपित अमित केसरवानी अभी भी से बाहर घूम रहा है। चार्जशीट दाखिल के बाद एनबीडब्ल्यू हो चुका है, फिर भी पुलिस उसको गिरफ्तार नहीं कर रही है। वजह, वह शहर के एक बडे़ होटल व्यापारी का बेटा है। बताया जा रहा है कि पुलिस को उसके खिलाफ कई एविडेंस मिले हैं।

इस मामले में कौशांबी एसपी को निष्पक्ष जांचकर रिपोर्ट देने को कहां गया है। इस जांच की मॉनीटरिंग मेरे लेवल पर हो रही है। जो भी इस घटना में इंवॉल्व होगा, उसको जेल भेजा जाएगा। विवेचना के दौरान जिसका नाम सामने आया है, उसका घटना में इंवॉल्वमेंट जरूर होगा। विवेचना अधिकारी को कुछ सुराग मिले हैं। वह हर एंगल पर जांच कर रहे हैं।

-प्रेमप्रकाश, एडीजी जोन प्रयागराज

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.