मायावती बोलीं संसद में पारित किसानों से जुड़े दो विधेयकों के समर्थन में बसपा नहीं

Updated Date: Fri, 18 Sep 2020 11:07 AM (IST)

संसद में कृषि सुधारों से जुड़े दो अध्यादेशों पर मायावती ने कहा कि विपक्षी विरोध के बावजूद सरकार ने लोकसभा से पारित करा लिया। बीएसपी इससे कतई सहमत नहीं हैं। बीजेपी की सहयोगी शिरोमणि अकाली दल ने भी दो बिलों का विरोध किया।


लखनऊ (एएनआई)। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी एग्रीकल्चर मार्केटिंग में सुधारों से संबंधित लोकसभा में दो विधेयकों को पारित करने के खिलाफ है। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि संसद में किसानों से जुड़े दो बिल, उनकी सभी शंकाओं को दूर किये बिना ही, कल पास कर दिये गये हैं। उससे बीएसपी कतई भी सहमत नहीं है। पूरे देश का किसान क्या चाहता है? इस ओर केन्द्र सरकार जरूर ध्यान दे तो यह बेहतर होगा। कांग्रेस सहित कई अन्य विपक्षी दलों ने भी बिलों का कड़ा विरोध किया
लोकसभा ने गुरुवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ एक बहस के बाद एग्रीकल्चर मार्केटिंग सुधार से संबंधित दो विधेयक पारित किए, जिसमें कहा गया कि कानून लाइसेंस राज को समाप्त कर देगा और किसान अपनी पसंद के अनुसार अपनी कृषि उपज बेचने के लिए स्वतंत्र होंगे।बीजेपी की सहयोगी शिरोमणि अकाली दल ने दो बिलों का विरोध किया। इसके अलावा कांग्रेस सहित कई अन्य विपक्षी दलों ने भी इन बिलों का कड़ा विरोध किया।कृषि मंत्री बोले दोनों अधिनियम कृषि अर्थव्यवस्था को सशक्त करेंगे


सदन ने किसानों के उत्पादन व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक, 2020 और मूल्य आश्वासन और कृषि सेवा विधेयक, 2020 पर किसान (सशक्तीकरण और संरक्षण) समझौता पारित किया।इस वर्ष के शुरू में सरकार द्वारा लाए गए दो अध्यादेशों को प्रतिस्थापित करने का प्रयास किया गया है। कृषि मंत्री ने अपने जवाब में बिल का विरोध करने वाले सदस्यों की आशंका के बारे में पूछते हुए कहा कि ये दोनों अधिनियम कृषि अर्थव्यवस्था को सशक्त करेंगे।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.