'रिमझिम' में दरकीं 'मूसलाधार' में क्या होगा

2019-07-10T06:00:39Z

i reality check

-कुंभ मेले के पहले करोड़ों की लागत से हुआ था चौड़ीकरण

-जगह-जगह टूटीं, गड्ढों में पानी भरने से चलना भी खतरनाक

vineet.tiwari@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुंभ के दौरान करोड़ों की लागत से बनी सड़कों पर जगह-जगह हुए गड्ढे खुलेआम हादसों को दावत दे रहे हैं। हैरानी की बात तो यह है कि इन रास्तों से होकर गुजरने वाले अधिकारियों को यह गड्ढे नजर नहीं आ रहे। पब्लिक की परेशानी से बेख्याल प्रशासन कुंभ के दौरान हुए काम के लिए ठेकेदारों को पेमेंट करने की तैयारी में है। पहली बारिश के बाद दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट रिपोर्टर ने सड़कों का हाल जाना

लोक सेवा आयोग चौराहा

हनुमान मंदिर साइड और ग‌र्ल्स हॉस्टल की ओर से सड़क पर हुए गड्ढे किसी को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। इनमें पानी भर जाने से गहराई का अंदाजा लगाना भी बेहद मुश्किल है।

कचहरी रोड

कुंभ के दौरान बने इस चौराहे के करीब सड़कों पर बारिश से जबरदस्त नुकसान पहुंचा है। आसपास के लोगों ने बताया कि 15 दिन पहले ठेकेदारों ने फिर से रोड बनाई थी जो दोबारा उखड़ गई। डामर निकल जाने से गिट्टियों पर फिसलकर कोई भी चोटिल हो सकता है।

टैम्पो स्टैंड

डीएम आवास से महज दो सौ मीटर दूर इस चौराहे की सड़कों के हालात भी बहुत अच्छे नहीं है। मेरी लूकस स्कूल के ठीक सामने बारिश से बदहाल हुई सड़क पर जलभराव अधिक खतरनाक हो चला है।

बेली हॉस्पिटल चौराहा

मस्जिद के ठीक सामने रोड उखड़ चुकी है। स्टैनली रोड के चौड़ीकरण का काम लंबे समय तक चला था। इस रोड़ पर कहीं-कहीं नुकसान पहुंचा है जिसकी मरम्मत का इंतजार किया जा रहा है।

एसपी मार्ग

सिविल लाइंस एरिया के इस वीआईपी मार्ग पर सर्वाधिक खतरनाक मेनहोल के गड्ढे हैं। बारिश में उनकी गिट्टी उखड़ने से गहराई अधिक हो गई और यह दुर्घटना का कारण बने हुए हैं। सड़क पर कहीं-कहीं गड्ढे भी नजर आने लगे हैं।

-------------

यहां पर भी सड़कें बदहाल

इसी तरह लूकरगंज, पत्थर गिरिजाघर, पत्रिका मार्ग, बैंकरोड, बेनीगंज, खुल्दाबाद आदि एरिया में भी सड़कें बारिश में धंसने लगी हैं। गड्ढों को ढंकने के भी उचित इंतजाम नहीं किए गए हैं।

बॉक्स

बौछारें भी नहीं झेल सकीं

कुंभ के दौरान पीडब्ल्यूडी और एडीए ने करोड़ों रुपए की लागत से शहर की सड़कों का चौड़ीकरण करवाया था। शहर की 18 सड़कों के चौड़ीकरण और निर्माण पर 800 करोड़ से अधिक खर्च हुआ। यह हालत तब है जबकि सड़कों की गुणवत्ता की जांच के लिए थर्ड पार्टी एजेंसी को भी लगाया गया था।

पहली बारिश के बाद कुछ सड़कों में गड्ढे की शिकायत आई है। अभी यह सभी अंडर मेंटेनेंस हैं। इसलिए संबंधित विभागों को इनको तत्काल ठीक कराने के आदेश दिए गए हैं।

-भानुचंद्र गोस्वामी, डीएम


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.