सीएम योगी बोले शिक्षक का चरित्र चाणक्य की तरह होना चाहिए

2019-04-02T09:16:39Z

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिग्विजयनाथ पीजी कॉलेज में आयोजित विजय संकल्प सभा के दौरान शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षक का चरित्र चाणक्य की तरह होना चाहिए

Gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR: शिक्षक समाज का सजग प्रहरी है, समाज की हर अच्छी और बुरी घटनाओं पर सचेत रहता है. शिक्षक का चरित्र चाणक्य की तरह होना चाहिए. जिससे भावी पीढ़ी को सही मार्गदर्शन दे सके. यह बातें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिग्विजयनाथ पीजी कॉलेज में आयोजित विजय संकल्प सभा के दौरान शिक्षकों को संबोधित करते हुए कही.

चीन हमारी सीमा में घुस जाता था
सीएम ने कहा कि महाभारत में द्यूत क्रीड़ा युद्ध हो रहा था. द्रौपदी ने चीर हरण के बाद सवाल पूछा कि इसका दोषी कौन है? विदुर ने कहा तिहाई दोषी जो मौन खड़े हैं. देश और समाज पर भी ये लागू होता है. आजादी के बाद बीच का कालखंड उदासीनता से भरा था. सीएम ने कहा कि चीन हमारी सीमा में घुस जाता था. आज की स्थिति देख लीजिए. देश में व्यापक लूट मची थी. अराजकता का माहौल था. उन परिस्थितियों में मई 2014 में गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. देश की करोड़ों जनता जानती थी. हमारा कार्यकर्ता जानता था कि मोदीजी अच्छा काम करेंगे, लेकिन सवा सौ करोड़ भारतीयों ने मोदी जी पर विश्वास कर अपना समर्थन दिया.

सभी जाति-धर्म के नाम पर कार्य किया
सीएम ने कहा कि पांच साल का कार्यकाल बहुत बड़ा कार्यकाल नहीं होता है, लेकिन आपने देखा होगा. उनका कार्यकाल जाति-धर्म और मजहब के नाम पर हमने कार्य नहीं किया. गरीब, किसान, नौजवान महिला वर्ग, शिक्षक, चिकित्सक, अधिवक्ता किसान, मजदूर सबके लिए बराबर से कार्य किया है. यही वजह है कि लोग इस बार कह रहे हैं कि मोदी जी की एक बार और सरकार बनानी चाहिए. कांग्रेस 55 वर्षो में गरीब का खाता तो खुलवा नहीं पाए और आज पैसा देने की घोषणा करते हैं.

पुलवामा हमले के बाद 72 घंटे में सरकार ने बनाई योजना
पुलवामा हमले के बाद 72 घंटे में सरकार ने अपनी योजना तैयार की और आतंकवादी और उसका मास्टरमाइंड मारा गया. 10 दिन के अंदर आतंकी शिविरों को सीमित कर 11 दिन और सही करके उन को नष्ट कर दिया. लेकिन भारत के विपक्षी दल से जुड़े कुछ लोग कहते हैं कि यह हुआ है कि नहीं हुआ है. सेना के शौर्य और पराक्रम को भी अपने देश के कुछ लोग पचा नहीं पा रहे हैं. सरकार की योजनाओं का लाभ अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति तक पहुंचे. हमारा देश दुनिया के अंदर एक ताकत के रूप में उभरता हुआ दिखाई दे रहा. कौन सा ऐसा क्षेत्र है क्षेत्र में भारत ने तरक्की और प्रगि1त न की हो.

यूपी में होगा इंटरनेशनल एयरपोर्ट
यूपी में देश का सबसे बड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण करने जा रहे हैं. आजादी के बाद से ही गरीबी हटाओ का नारा दिया गया. लेकिन, गरीब बैंक में खाता खाता खोला है. नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी सब ने गरीबी हटाओ का नारा दिया था. लेकिन किस ने क्या किया है, यह सबके सामने है. नेहरू जी भी कुंभ आए थे. उस समय के कुंभ में भगदड़ में 800 लोगों की मौत हुई थी. पूर्व के कुंभ में मॉरीशस के प्रधानमंत्री आए थे और स्नान की. हिम्मत नहीं जुटा सके. इस बार भी मॉरीशस के प्रधानमंत्री आए थे और 400 डेलीगेट्स के साथ निर्मल-अविरल गंगा में स्नान करके गए.

2012 में भी हुआ था प्रयागराज, तब मची थी भगदड़
सीएम ने कहा कि प्रयागराज बहुत से लोग गए थे. 2012 में महाकुंभ था. भगदड़ में काफी लोगों की जान गई थी. लेकिन, इस बार कुंभ था. 24 करोड़ लोग आए थे, प्रयागराज में विकास की कई योजनाएं शुरू की. अरुणाचल, मणिपुर, असम में भाजपा और नागालैंड, मेघालय में भाजपा समर्थित सरकार है. डोकलाम में चीन को पीछे हटने के लिए मजबूर होना पड़ा था. आज भी वहां हमारी सेना डटकर खड़ी है और भूटान की भी हम मदद कर रहे हैं. कांग्रेस की सरकार में कॉमनवेल्थ गेम हुआ था. खेल खत्म हुआ और काम पूरा नहीं हो पाया.

मुझे आतंकियों से खतरा नहीं है
सीएम ने शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि राहुल गांधी ने विदेश में कहा कि मुझे आतंकियों से खतरा नहीं है. मुझे भारत के लोगों से खतरा है. हिंदुओं को जो आतंकी घोषित कर दें. वे देश को कहां ले जाना चाहते हैं ये सभी को पता है. शिक्षकों को चाणक्य की भूमिका का निर्वहन करना होगा. शामली के 6 बार के सपा से विधायक और उनके पुत्र ने मिलने का समय मांगा. हमसे वे लखनऊ में मिले. मैंने बोला कि ऐसा क्या हो गया आप विधान परिषद के सदस्य भी हैं. उन्होंने कहा कि सपा का झंडा देखकर घर की महिलाएं कहती हैं कि क्या गुंडों का झंडा ढो रहे हो. भाजपा और मोदी-योगी जी के क्या बुराई है. इसलिए भाजपा च्वाइन करना चाहते हैं.

लोग पलायन कर रहे थे
2017 के चुनाव के पहले 12 वर्षो तक पश्चिमी यूपी में महिलाएं, लड़कियां और व्यापारी कहते थे कि क्या कोई सरकार हमें सुरक्षा दे पाएगी. कैराना में कश्मीर वाली स्थिति थी. लोग पलायन कर रहे थे, लेकिन, आज वे वापस अपना व्यापार कर रहे हैं. अपराधी जेल में हैं या प्रदेश छोड़कर भाग गए हैं.


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.