Dussehra 2020: दशहरा पर सैनिकों के साथ शस्त्र पूजन करेंगे रक्षामंत्री, राजनाथ ने देशवासियों को दी दशहरा की शुभकामनाएं

Updated Date: Sun, 25 Oct 2020 09:45 AM (IST)

आज पूरे देश में दशहरा पर्व मनाया जा रहा है। इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने देशवासियों को दशहरे की शुभकामनाएं दी। इसके साथ ही रक्षा मंत्री आज सिक्किम जाकर शस्त्र पूजन भी करेंगे।

नई दिल्ली (एएनआई)। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को दशहरा (विजयदशमी) पर देशवासियों को शुभकामनाएं दीं। राजनाथ ने एक ट्वीट में कहा कि वह सिक्किम के नाथुला क्षेत्र का दौरा करेंगे और आज भारतीय सेना के सैनिकों से मुलाकात करेंगे। यही नहीं उन्होंने ट्वीट करके यह भी बताया कि, वह आज नाथूला में शस्त्र पूजा समारोह में भी हिस्सा लेंगे। बता दें विजयादशमी पर शस्त्र पूजन का विधान है। रक्षा मंत्री ने कहा, "सभी देशवासियों को विजयदशमी पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं। आज के इस शुभ अवसर पर मैं सिक्किम के नाथुला क्षेत्र का दौरा करूंगा और भारतीय सेना के जवानों से मिलूंगा और शास्त्री पूजन समारोह में भी उपस्थित रहूंगा।"

सभी देशवासियों को विजयदशमी पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।
आज के इस पावन अवसर पर मैं सिक्किम के नाथूला क्षेत्र में जाकर भारतीय सेना के जवानों से भेंट करूँगा एवं शस्त्र पूजन समारोह में भी मौजूद रहूँगा।

— Rajnath Singh (@rajnathsingh) October 25, 2020

दशहरे में हथियारों की पूजा
"शास्त्र पूजा" हिंदू परंपरा के अनुसार की जाएगी जिसमें योद्धाओं द्वारा दशहरे में हथियारों की पूजा की जाती है। पिछले साल रक्षा मंत्री ने फ्रांस में भारत का पहला राफेल लड़ाकू विमान वहां से प्राप्त करते समय किया था। सिंह ने शनिवार को दार्जिलिंग के सुकना में 33 कोर के मुख्यालय का दौरा किया और पूर्वी सेक्टर में स्थिति और तैयारियों की समीक्षा की। रक्षा मंत्री के साथ थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवाने भी थे।

सैनिकों के साथ समय बिताएंगे रक्षा मंत्री
पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा पर तनाव के बीच उनकी यह यात्रा हुई है। रक्षा मंत्री ने एक सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लिया। सैनिकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि त्रिशक्ति वाहिनी का एक स्वर्णिम इतिहास है। उन्होंने कहा, "त्रिशक्ति वाहिनी का महान स्वर्णिम इतिहास रहा है। विशेष रूप से 1962, 1967, 1971 और 1975 में, इस वाहिनी ने वीरता के उदाहरण पेश किए। यह उत्कृष्ट रहा है।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.