ICC World Cup 2019 पहली बार 5050 ओवर का खेला गया 1987 वर्ल्ड कप मैच

2019-05-19T13:24:16Z

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 की शुरुआत 30 मई से इंग्लैंड में हो रही है। यह 12वां एडीशन है। आइए जानें 1987 में खेले गए चौथे वर्ल्ड कप के बारे में कुछ खास बातें

कानपुर। क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट वर्ल्ड कप का चौथा एडीशन साल 1987 में खेला गया था। इसमें आठ टीमों ने हिस्सा लिया। जिसमें भारत, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, जिंबाब्वे, पाकिस्तान, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज और श्रीलंका की टीमें शामिल थीं।
कहां हुआ था आयोजन

यह पहला वर्ल्ड कप था जो इंग्लैंड के बाहर आयोजित किया गया। वर्ल्ड के शुरुआती तीन सीजन इंग्लैंड ने होस्ट किए थे। मगर इस बार भारत और पाकिस्तान ने मिलकर टूर्नामेंट को होस्ट किया। फाइनल मुकाबला कोलकाता के ईडन गार्डन मैदान पर खेला गया।
पहली बार हुआ 50-50 ओवर का मैच
जिस वक्त पहला वर्ल्ड कप खेला गया। तब वनडे क्रिकेट 60-60 ओवर का हुआ करता था। मगर 1987 वर्ल्ड कप के सभी मैच 50-50 ओवर के खेले गए। इसकी वजह थी कि टूर्नामेंट का आयोजन सबकांटिनेंट में हुआ था और यहां रात जल्दी हो जाती है। इस वजह से 10-10 ओवर कम कर दिए गए।
दो ग्रुप में बांटा गया टीमों को
इस वर्ल्ड कप में सभी टीमों को दो ग्रुप में बांटा गया। पहले ग्रुप में भारत, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और जिंबाब्वे की टीमें थीं। वहीं ग्रुप बी में , पाकिस्तान, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज और श्रीलंका को रखा गया।
कैसे तय हुईं फाइनल टीमें
ये टूर्नामेंट राउंड रोबिन और नाॅकआउट के आधार पर खेला गया। दो ग्रुप में चार-चार टीमें थीं और ग्रुप की एक टीम को बाकी तीन टीमों के साथ मैच खेलने पड़े। ग्रुप में टाॅप 2 टीमों के बीच सेमीफाइनल खेला गया। जिसमें जीतने वाली टीमें फाइनल में भिड़ीं।
डिफेंडिंग चैंपियन इंडिया ने की अच्छी शुरुआत
1983 वर्ल्ड कप विनर टीम इंडिया को इस सीजन का दावेदार माना जा रहा था। एक बार टूर्नामेंट शुरु हुआ तो ग्रुप मैचों में भारत ने न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया जैसी दिग्गज टीमों को पटखनी दी। भारत ने ग्रुप में 6 मैचों में 5 में जीत दर्जकर सेमीफाइनल में जगह बनाई।
35 रन से चूके फाइनल में पहुंचने से
1987 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में भारत का मुकाबला इंग्लैंड से हुआ। सभी को लगा कि भारत पिछले वर्ल्ड कप का प्रदर्शन दोहराएगा। मगर फाइनल में पहुंचने से एक कदम दूर टीम इंडिया को सेमीफाइनल में 35 रन से करारी शिकस्त मिली। इसी के साथ लगातार दूसरी बार भारत का वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया।
ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड के बीच हुआ फाइनल
चौथे वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला ऑस्ट्रेलिया बनाम इंग्लैंड के बीच खेला गया। जिसमें कंगारुओं ने सात रन से नजदीकी जीत दर्ज कर पहली बार टाइटल जीता। उस वक्त ऑस्ट्रेलियाई टीम की कमान एलन बार्डर के हाथों में थी।

जीतने वाली टीम को मिले इतने रुपये

ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड कप जीतने पर करीब 26 लाख रुपये दिए गए। वहीं रनर अप इंग्लैंड को 10 लाख रुपये मिले थे। इसके अलावा सेमीफाइनल में हारने वाली टीमों पाकिस्तान और भारत को 5-5 लाख रुपये मिले।
ICC World Cup 2019 : जब 3 दिनों तक चला 1979 वर्ल्ड कप का एक मैच, ये रहा था नतीजा
ICC World Cup 2019 : कहानी 1983 विश्व कप की, इन 10 गेंदों के चलते भारत पहली बार बना था चैंपियन

किसने बनाए सबसे ज्यादा रन

1987 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज इंग्लैंड के ग्राहम गूच थे। गूच के बल्ले से पूरे टूर्नामेंट में 471 रन निकले।

कौन बना हाईएस्ट विकेट टेकर

ऑस्ट्रेलिया के क्रेग मैक्डेरमेट चौथे वर्ल्ड कप में हाईएस्ट विकेट टेकर बने। क्रेग ने इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा 18 विकेट चटकाए।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.