बीजेपी नेता की हत्या किसी गहरी साजिश का नतीजा

2018-12-06T06:01:21Z

- आरोपियों से इतर हो सकते हैं वारदात को अंजाम देने वाले

- सीसीटीवी में दो बाइक में पांच लोग नजर आए, हमलावरों की बाइक का नंबर मिला

LUCKNOW:

बीजेपी नेता प्रत्युषमणि त्रिपाठी की हत्या किसी गहरी साजिश का नतीजा है। इस केस की जांच कर रही पुलिस टीम को घटना से जुड़े कई अहम सुराग मिले हैं। घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी फुटेज में दो बाइक से पांच हमलावरों की फुटेज मिली है। सूत्रों के मुताबिक हमलावरों की बाइक का नंबर भी मिल गया। वहीं यह भी दावा किया जा रहा है कि हत्या में शामिल कुछ और लोग हैं, जिनकी घटना के समय घटनास्थल के पास लोकेशन मिली है।

दो बाइक पर पांच लोग

जहां बीजेपी नेता प्रत्युषमणि पर जानलेवा हमला किया गया, वहां से पुलिस को कुछ सीसीटीवी फुटेज मिली हैं। दावा किया जा रहा कि इसमें दो बाइक सवार पांच लोग देखे गए हैं। बाइक का नंबर भी मिला है। पुलिस के उच्च स्तरीय सूत्रों के मुताबिक घटनास्थल पर पुलिस को कुछ मोबाइल नंबर की लोकेशन मिली है जो कि हत्यारोपी से इतर है।

कोई गिरफ्तारी नहीं

बीजेपी नेता की हत्या में अभी कोई गिरफ्तरी नहीं हुई है। जिन दो आरोपी सलमान और उसके भाई अदनान को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा है, वह 26 नवंबर की रात हुई मारपीट के आरोपी हैं। उन्हें उस केस में गिरफ्तार किया गया। सूत्रों के मुताबिक घटना के दिन उनकी लोकेशन गुड़गांव में मिली है। हालांकि परिजनों ने उसके खिलाफ नामजद एफआईआर कराई है।

एक दर्जन संदिग्ध हिरासत में

एएसपी टीजी हरेंद्र कुमार के मुताबिक प्रत्यूषमणि की हत्या में फरार चल रहे आरोपित ध्रुव वर्मा, रोहित सिंह और शीबू समेत अन्य लोगों की तलाश हो रही है। मंगलवार को वजीरगंज इलाके से सलमान और शीबू को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस की गिरफ्त से फरार चल रहे आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है। करीब 12 संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा चुकी है।

25 नवंबर वाले केस में आरोपियों की तलाश

एएसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी का कहना है कि कैसरबाग कोतवाली में केस के संबंध में नामजद आरोपियों को तलाशा जा रहा है। सभी फरार हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपितों की पकड़ के लिए एसटीएफ को भी लगाया गया है।

भारी सुरक्षा में कोर्ट में किया पेशी

हत्या में शामिल सलमान और अदनान को पुलिस ने बुधवार को भारी सुरक्षा बंदोबस्त के बीच कोर्ट में पेश किया है। कोर्ट ने आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है। कैसरबाग के मॉडल हाउस स्थित प्रत्यूषमणि की हत्या के बाद इलाके में तनाव था। इसे देखते हुए बुधवार को भी पीडि़त परिवार के घर के बाहर पुलिस के जवान तैनात थे। पुलिस ने बताया कि हत्या में शामिल आरोपित सलमान और अदनान को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जाएगी।

सांसद ने परिवार से की मुलाकात

मोहनलालगंज के सांसद कौशल किशोर ने पीडि़त परिवार से मुलाकात की है। सांसद ने परिवार को न्याय का भरोसा देते हुए आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। सांसद ने पीडि़त परिवार की फोन पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बातचीत भी करवाई है।

भाजपा कार्यकर्ता नाराज

एसएसपी कलानिधि नैथानी के खिलाफ कार्रवाई न होने पर बीजेपी कार्यकर्ता बुधवार को भी आक्रोश में दिखे। कार्यकर्ताओं ने एसएसपी के खिलाफ कार्रवाई के लिए प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडेय से अनुरोध किया है।

सीओ हजरतगंज को मिली जांच

भाजपा नेता की हत्या की घटना में लापरवाही के चलते सस्पेंड किए गए कैसरबाग इंस्पेक्टर धीरेंद्र कुशवाहा के खिलाफ जांच का जिम्मा सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र को सौंपा गया है। सीओ अपनी जांच रिपोर्ट जल्द एसएसपी को बनाकर देंगे।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.