प्रवासी भारतीय सम्मेलन : मोदी के विजन और सृजन के कायल हैं एनआरआई

Updated Date: Wed, 23 Jan 2019 11:33 AM (IST)

-प्रवासी महाकुंभ के दूसरे दिन पीएम मोदी ने भावी योजनाओं की घोषणा कर मेहमानों को दिये उम्मीदों के पंख

VARANASI : प्रवासी महाकुंभ के दूसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भावी योजनाओं की घोषणा कर प्रवासी भारतीयों की उम्मीदों को पंख लगा दिये। ई-पासपोर्ट, ई-वीजा, प्रवासी तीर्थ दर्शन योजना के जरिए भारत से प्रवासियों का रिश्ता और प्रगाढ़ करने का सार्थक प्रयास भी किया। इसी कारण अटल सभागार में मोदी को सुनने वाला हर प्रवासी भारतीय उनके विजन और सृजन का कायल हो गया। पीएम मोदी को सुनने के लिए प्रवासियों में पॉजिटिव एनर्जी दिख रही थी। पीएम का भाषण सुनने के बाद प्रवासी भारतीयों ने दैनिक जागरण आई नेक्स्ट से साझा की अपनी फिलिंग।

नोएडा में सौ मीलियन डॉलर का इनवेस्ट किया

कैलिफोर्निया में रहने वाले सत्येन्द्र रेखी सॉफ्टवेयर कम्पनी के मालिक हैं। इन्होंने नोएडा में सौ मीलियन डॉलर का इनवेस्ट किया है। नोएडा में करीब 2500 कर्मचारी हैं। इन्होंने इंडिया में और भी निवेश करने की बात कही। सत्येन्द्र रेखी ने कहा कि मोदी जी एनआरआई का सम्मान करते हैं। वे हम लोगों को इनोवेट करते हैं। वाकई जीनियस पर्सन हैं मोदी जी।

महिलाओं के प्रति उनकी सोच से प्रभावित

नेपाल की सांसद चंद्रा चौधरी कहती हैं कि पीएम मोदी की सोच और विचार काफी अच्छा है। महिलाओं के प्रति उनकी सोच से प्रभावित होकर मैं भी नेपाल में महिला सशक्तिकरण, शिक्षा, रोजगार और बेटी के उत्थान के लिए काम कर रही हूं। पशुपतिनाथ और काशी विश्वनाथ सर्किट बनाने को लेकर भारत सरकार से बात चल रही है। इस संबंध में सितम्बर में राजनाथ सिंह से मेरी भेंट हुई थी। आज मोदी जी से भी मुलाकात हुई। वैसे भी बनारस और नेपाल का आध्यात्मिक रिश्ता है।

संस्कृति शुरू से अच्छी लगती है

सिंगापुर में रहने वाली सुमन गुप्ता वैसे तो मूल रूप से बनारसी हैं। यहां की संस्कृति उन्हें शुरू से अच्छी लगती है। वे सिंगापुर में टीचर हैं। लम्बे समय बाद यहां आयी सुमन कहती हैं कि अब तो बनारस भी सिंगापुर के पथ पर जा रहा है। यह सब मोदी जी की देन है। टेंट सिटी की व्यवस्था से थोड़ी नाराज भी दिखीं।

माई डियर आदमी हैं मोदी जी

अमेरिका में लम्बे समय से रह रहे सीके जोशी कहते हैं कि मोदी जी तो वाकई माई डियर आदमी हैं। मेरा आईटी और होटल का कारोबार है। मोदी के आने से भारत में अच्छा माहौल हो गया है। मैं गुजराती के साथ कारोबारी भी हूं, इसलिए भारत में निवेश के साथ अमेरिकी परिवारों को भी भारत घूमने के लिए प्रेरित करूंगा।

मोदी मैजिक बनारस खींच लाया

शिकागो में रहने वाले अमर उपाध्याय कम्प्यूटर के पा‌र्ट्स बनाते हैं। उनके पूर्वज मप्र में रहते हैं। वे करीब 35 साल से शिकागो में हैं। भारत की संस्कृति और मोदी मैजिक उन्हें बनारस खींच लाया। मोदी का जितना नाम है, उतना काम भी दिखता है। प्रवासी तीर्थ दर्शन योजना हम लोगों के लिए अच्छी होगी।

पीएम मोदी ने पूरे देश में बेहतर काम किया

ओमान के मस्कट में रहने वाले अमित सेन फाइनेंस कम्पनी में मैनेजर हैं। वह कहते हैं कि पीएम मोदी ने पूरे देश में बेहतर काम किया है। दिल्ली से बनारस तक मुझे बहुत बदलाव दिखा। गंगा घाट का नजारा देख मन प्रसन्न हो गया। मोदी ने कहा है इसलिए मैं मस्कट के पांच परिवारों को जरूर भारत जाने के लिए कहूंगा।

लोगों को कर्मशील बनाते हैं मोदी जी

रूस के रहने वाले मंगलम दुबे कहते हैं कि मोदी जी की बातें सुनकर मैं काफी प्रभावित हूं। वे लोगों को कर्मशील बनाते हैं। उनके अंदर मोटीवेशन की क्षमता अद्भुत है। सीएमओ वीबी सिंह मेरे मेजबान हैं। डॉक्टर साहब बहुत ही सरल और सौम्य स्वभाव के हैं।


मोदी जी का भाषण सुनकर आंखों में आंसू आ गया

कुवैत में रह रही अरुणा ब्रह्मकुमारी कहती हैं कि मोदी जी का भाषण सुनकर मेरे आंखों में आंसू आ गया। देश के लिए वह कितना सोचते हैं। उनकी बातों से लगता है कि वह दिल से भारत का विकास चाहते हैं। ऐसे व्यक्ति को बार-बार देश का पीएम बनना चाहिए।

मोदी जी की पॉजिटिव सोच
यूएसए में होटल कारोबार से जुड़ी चंद्र गुप्ता कहती हैं कि मोदी जी की पॉजिटिव सोच ही है कि बड़ी संख्या में प्रवासी भारतीयों ने भारत में निवेश किया है। भविष्य में भी इससे अधिक निवेश होगा। उन्होंने प्रवासी तीर्थ दर्शन योजना की घोषणा की, जिससे भारतीय टूरिज्म को काफी बढ़ावा मिलेगा।

मोदी जी को दोबारा पीएम बनना चाहिए

दुबई में रहने वाली रेखा गांधी इलेक्ट्रिकल कारोबारी हैं। कहती हैं कि मोदी जी का भाषण प्रेरित करता है। उनको दोबारा पीएम बनना चाहिए। मैं आपके न्यूज पेपर के माध्यम से बनारस की जनता से अपील भी करती हूं कि मोदी को दोबारा सांसद चुनें। मोदी ने देश के साथ बनारस का भी काफी विकास किया है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.