अमृतसर रेल हादसा रूसी राष्‍ट्रपति पुतिन भी हैं घटना से दुखी यूं व्‍यक्‍त की संवदेना

2018-10-20T15:09:13Z

पंजाब के अमृतसर में दशहरा मेला के दौरान हुए ट्रेन हादसे में 60 से अधिक लोगों के मारे जाने की घटना को लेकर रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने भी गहरा दुख व्‍यक्‍त किया है।

कानपुर। अमृतसर शहर में दशहरा पर रावण के पुतला दहन कार्यक्रम के दौरान पास के रेलवे ट्रैक पर खड़ी भीड़ के ऊपर से पैसेंजर ट्रेन गुजरने के कारण 60 से अधिक लोगों की मौत पर देश सदमें में हैं। घटनाक्रम के मुताबिक अमृतसर में धोबीघाट के निकट जोड़ा फाटक के पास दशहरा कार्यक्रम में रावण के पुतला दहन को देखने के लिए जुटी भीड़ पीछे से गुजर रही रेलवे लाइन पर पहुंच गई। इस दौरान अमृतसर से होशियारपुर जा रही जालंधर-अमृतसर डीएमयू पैसेंजर ट्रेन वहां से तेज रफ्तार में गुजरी। जिसमें सौ से ज्यादा लोग ट्रेन से कुचल गए। जिसमें 60 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और 70 से अधिक लोग घायल हैं। जिनका इलाज चल रहा है। इस दर्दनाक घटना को लेकर पूरा देश शो में है।

दर्दनाक घटना से पुतिन भी दुखी
अमृतसर में दशहरा मेला के दौरान दर्दनाक हादसे को लेकर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भी अपना दुख व्यक्त किया है। पुतिन ने अपने संदेश में कहा कि पंजाब में हुए इस हादसे को लेकर मैं काफी दुखी हूं। उन्होंने हादसे में मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। पुतिन ने हादसे में घायल लोगों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना भी है। घटना को लेकर पीएम मोदी समेत तमाम नेताओं ने दुख प्रकट किया है। पंजाब के सीएम समेत अपना इजराइल दौरा छोड़कर दिल्ली से वापस अमृतसर पहुंचे और घायलों का हालचाल लिया।

पटरियों पर मौजूद थे सैकड़ों लोग, घटना के बाद मची चीख पुकार
जानकारी के मुताबिक जिस वक्त यह हादसा हुआ, उस वक्त करीब 300 लोग रेलवे ट्रैक के आसपास खड़े होकर पुतला दहन देख रहे थे। बताया जा रहा है कि घटना के कुछ मिनट पहले ही वहां से एक एक्सप्रेस ट्रेन गुजरी थी। उस वक्त तो लोग पटरियों पर से हट गए लेकिन जब यह पैसेंजर ट्रेन ट्रैक से गुजरी, लोग रावण का पुतला दहन देख रहे थे। पटाखों के शोर और तेज रोशनी के बीच शायद लोगों के ट्रेन के करीब आने का अहसास देर से हुआ। इस कारण ट्रेन 100 से अधिक लोगों को कुचलते हुए गुजर गई। घटना के बाद का नजारा भयावह था। चारो ओर लाशें बिखरी पड़ी थीं और घायल लोग चीख पुकार रहे थे। घटना को पंजाब सरकार ने शनिवार को एक दिन के शोक घोषित किया है। साथ ही पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने इस घटना को लेकर मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दिये हैं।

अमेरिका के इंडियन एम्बेसी में शुरू होगी हिंदी और संस्कृत की क्लास


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.