Lockdown से निकलेगी सरकार, 15 से कामकाज करेंगे मंत्री-अफसर

Updated Date: Mon, 13 Apr 2020 01:26 PM (IST)

पीएम नरेंद्र मोदी के 'जान है तो जहान है' के मंत्र पर चल रही योगी सरकार अब प्रदेश को पटरी पर लाने के लिए 15 अप्रैल से लॉकडाउन के बाहर आने वाली है। मंत्री-अफसर फिजिकल डिस्टेंस का पालन करते हुए अपना कामकाज शुरू करेंगे। सीनियर मंत्रियों की 11 कमेटियां वर्कप्लान बनाएंगी कि लॉकडाउन में चरमराई आर्थिक शैक्षिक चिकित्सीय और सामाजिक व्यवस्था को सधे कदमों के साथ कैसे आगे बढ़ाया जाए।

लखनऊ (ब्यूरो)। सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार देर शाम सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक की। इस बैठक का उद्देश्य था कि लॉकडाउन की स्थिति से किस तरह बाहर निकलकर जरूरी गतिविधियों को एहतियात के साथ सुचारु किया जाए। सीएम ने मंत्रियों और शासन के वरिष्ठ अधिकारियों को 15 अप्रैल से कार्यालय में बैठकर अपने-अपने विभागों के आवश्यक कामकाज निपटाने के लिए कहा है। उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि लॉकडाउन के बारे में केंद्र सरकार के जो भी दिशा निर्देश होंगे, उनका पालन किया जाएगा। 15 अप्रैल से दफ्तरों में बैठें मंत्री सीएम ने सभी मंत्रियों को 15 अप्रैल से अपने कार्यालयों में बैठकर विभाग के आवश्यक कामकाज निपटाने का निर्देश दिया है । उनसे यह भी कहा है कि वे अपने प्रभार वाले जिलों में सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा भी करें। सीएम ने यह भी निर्देश दिया कि 15 अप्रैल से विशेष सचिव और उनसे ऊपर के स्तर के सभी शासन के अधिकारी भी अपने कार्यालयों में बैठेंगे और मंत्रियों के साथ आवश्यक बैठक कर विभाग और सरकार के कामकाज को आगे बढ़ाएंगे ।

11 कमेटियां गठित मंत्री जिम्मेदारी

केशव प्रसाद मौर्य : डिप्टी सीएम एक्सप्रेसवे, हाइवे, पीडब्लूडी के बड़े निर्माण कार्य, अन्य विभागों के बड़े निर्माण कार्य को आगे बढ़ाने पर विचार

डॉक्टर दिनेश शर्मा : डिप्टी सीएम बेसिक, माध्यमिक, उच्च, प्राविधिक और व्यावसायिक शिक्षा में पाठ्यक्रमों को ऑनलाइन करने और छात्रों को मुहैया कराने का कार्य

सुरेश कुमार खन्ना : वित्त मंत्री राजस्व की आपूर्ति की निरंतरता बनाए रखा, एमएसएमई उद्योग में कौन से उद्योग संचालित होंगे, इसकी संस्तुति करना

सूर्यप्रताप शाही : कृषि मंत्री प्रदेश में गेहूं और अन्य रबी फसलों की कटाई को सुनिश्चित करना। हार्वेस्टर, खाद, बीज समय से मिलें। किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम दाम पर अपनी फसल न बेचनी पड़े ।

जयप्रताप सिंह : स्वास्थ्य मंत्री राजकीय व निजी हॉस्पिटल्स, मेडिकल कॉलेजों में सुरक्षित व सावधानीपूर्वक ढंग से इमरजेंसी सेवाओं जैसे कीमोथेरेपी, रेडियोथेरेपी, डायलिसिस को शुरू करने, न्यूरो व कार्डियक पेशेंट्स को राहत दिलाने व टेलीमेडिसिन व टेलीफोन पर कंसल्टेशन को आगे बढ़ाना

स्वामी प्रसाद मौर्य : श्रम मंत्री श्रमिकों के हितों की रक्षा के लिये संस्तुतियां देना

मोती सिंह : ग्राम्य विकास मंत्री ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता व सेनेटाइजेशन की व्यवस्था कराना

आशुतोष टंडन : नगर विकास मंत्री शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता व सेनीटाइजेशन की व्यवस्था कराना

डॉक्टर महेंद्र सिंह : जल शक्ति मंत्री पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित कराना, बुंदेलखंड व विंध्य क्षेत्र में पेयजल संकट न हो, इस पर कार्य करना

अनिल राजभर : दिव्यांगजन मंत्री दिव्यांगजनों के हित में संस्तुतियां करना रमापति शास्त्री समाज कल्याण की छात्रवृति व पेंशन की आगे की योजना पर अपनी संस्तुतियां देना

फसलों की हो खरीद

कोरोना संक्रमण के हालात और लॉकडाउन की समीक्षा सीएम योगी आदित्यनाथ ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में निर्देश दिए कि किसानों को फसल कटाई के लिए आने-जाने में कोई असुविधा न हो। स्थानीय प्रशासन नियमों का सरलीकरण कर उनकी सहायता करे। फसलों की खरीद और मंडी की व्यवस्था को सुचारु बनाया जाए। हर हालत में किसान को न्यूनतम समर्थन मूल्य देना सुनिश्चित किया जाए। योगी ने कहा कि वैकल्पिक क्रय के रूप में कृषक उत्पादक संगठन (एफपीओ) के माध्यम से गांव या खेत से ही उपज की खरीद की जाए। इस पूरी प्रक्रिया में सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्य रूप से पालन कराएं।

ऑनलाइन पढ़ाई व्यवस्था मजबूत करें

इसके साथ ही सीएम ने कहा कि उच्च शिक्षा, प्राविधिक शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा, चिकित्सा, नर्सिंग, पैरामेडिकल आदि की ऑनलाइन पढ़ाई व्यवस्था को मजबूत करें। दूरदर्शन से संपर्क कर शैक्षिक गतिविधियों में उसकी भी मदद ले सकते हैं। अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश के लगभग सभी राज्य विश्वविद्यालयों ने ऑनलाइन पढ़ाई शुरू कर दी है। अनेक विषयों का ई-कन्टेंट तैयार कर लगातार अपलोड किया जा रहा है, जिन्हें छात्र घर पर ही आसानी से एक्सेस कर सकते हैं।

धर्मगुरुओं से करें बात, घर में ही मनें सभी पर्व

सीएम योगी ने कहा कि अग्रिम आदेशों तक किसी भी तरह के धार्मिक, सांस्कृतिक या सामाजिक कार्यक्रम को सार्वजनिक रूप से आयोजित न किया जाए। आमजन घर पर ही धार्मिक अनुष्ठान करें। कई महत्वपूर्ण पर्व आने वाले हैं। प्रशासन व पुलिस धर्मगुरुओं व अन्य गणमान्य व्यक्तियों से संपर्क कर सभी पर्व घर में ही मनाने अपील कराएं। उन्होंने कहा कि सरकारी अधिकारी, कर्मचारी, छात्र, अभिभावक, शिक्षक सहित सभी लोग आरोग्य सेतु एप को अपनाएं। यह एप कोविड-19 के संक्रमण से स्वयं को बचाने में उपयोगी है। योगी ने कालाबाजारी, मुनाफाखोरी पर लगातार कार्रवाई के साथ ही अवैध शराब के खिलाफ तीन दिन का विशेष अभियान चलाकर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए।
lucknow@inext.co.in

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.