मौसम का यू-टर्न, फिर बढ़ गए पेशेंट्स

Updated Date: Sat, 22 Feb 2020 05:45 AM (IST)

इस तरह से बढ़ा है अंतर

डेट अधिकतम न्यूनतम

19 फरवरी 29 9

18 फरवरी 25 9

17 फरवरी 26 10

16 फरवरी 26.5 9.3

15 फरवरी 23.2 9

14 फरवरी 26.2 12

13 फरवरी 26.2 9.5

12 फरवरी 24 8

11 फरवरी 23 9

10 फरवरी 24 8

-रात और दिन के तापमान में बढ़ने लगा है अंतर

-सीजनल बीमारियों की चपेट में आने लगे हैं लोग

PRAYAGRAJ: मौसम का यू टर्न फिर से पब्लिक पर भारी पड़ने लगा है। अचानक दिन गर्म और रातें ठंडी होने लगी हैं। ऐसे में लोगों को सीजनल बीमारियां अपनी चपेट में ले रही हैं। मरीज भी अधिक संख्या में ओपीडी में दस्तक दे रहे हैं। डॉक्टर्स का कहना है कि होली तक मौसम का यह हाल बना रहे और तब तक लोगों को होशियार रहना होगा।

सात से आठ डिग्री का है अंतर

दो तिहाई फरवरी बीतने के बाद मौसम एक बार फिर से बदलने लगा है। इसे गर्मी की आहट भी कहा जा सकता है। लेकिन वर्तमान में दिन में गर्मी और रात में ठंडी का माहौल है। रात और दिन का अंतर बढ़कर 7 से 8 डिग्री तक जा पहुंचा है। इससे लोगों की सेहत पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। एक्सप‌र्ट्स की माने तो भविष्य में यह डिफरेंस बढ़ सकता है।

25 फीसदी बढ़ गए मरीज

तापमान के उतार-चढ़ाव के चलते एक बार फिर मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। अधिकतर मरीज ठंडे और गर्म के मिक्सअप से सीजनल संक्रमण का शिकार हो रहे हैं। उनमे से अधिकतर को खांसी, बुखार और जुकाम का लक्षण देखने को मिल रहा है। कई मरीज बदन दर्द की शिकायत कर रहे हैं। बच्चों और बुजुर्गो को संक्रमण का अधिक असर हो रहा है। उनमें फ्लू के लक्षण देखे जा रहे हैं।

बचने के उपाय

-रात में पंखा चलाकर मत सोएं।

-दिन ढलने के बाद ऊनी कपड़ों का उपयोग करें।

-ठंडे पेयजल या कोल्ड ड्रिंक का उपयोग न करें।

-हाइजीन और क्वालिटी देखकर ही बाहर की चीजें खाएं।

-गले में हल्का कफ या बुखार होने पर डॉक्टर से संपर्क करें।

-छींकते और खांसते समय रुमाल का यूज करें।

मौसम के बदलाव से दिक्कतें पेश आ रही हैं। इसलिए खुद को संभालना जरूरी है। अगर गर्मी लग रही है तो तेजी से पंखा न चलाएं। रात में हल्के कपड़ों में न रहें। शरीर की ऊष्मा को बचाने के लिए गर्म कपड़े पहनें।

-डॉ। आशुतोष गुप्ता, चेस्ट फिजीशियन

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.