मामूली मामलों में लूट की एफआईआर, सुनकर चकराए कप्तान

2020-06-02T07:30:01Z

पीपीगंज के दो पीडि़तों ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप एसएसपी ने दिए जांच के निर्देश एसओ को लगाई फटकार GORAKHPUR: पीपीगंज एरिया में मारपीट और झगड़ों की शिकायत पर लूट की एफआईआर दर्ज करने को एसएसपी ने गंभीरता से लिया है. बगलगीरों से हुए विवाद में जबरन लूट और छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराए जाने से

पीपीगंज के दो पीडि़तों ने पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप

एसएसपी ने दिए जांच के निर्देश, एसओ को लगाई फटकार

GORAKHPUR:

पीपीगंज एरिया में मारपीट और झगड़ों की शिकायत पर लूट की एफआईआर दर्ज करने को एसएसपी ने गंभीरता से लिया है। बगलगीरों से हुए विवाद में जबरन लूट और छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराए जाने से परेशान पीडि़त ने एसएसपी से गुहार लगाई। बताया कि वह करीब 14 दिनों से परिवार के साथ जहां-तहां छिपकर रह रहा था। लॉकडाउन में ढील मिलने पर किसी तरह से पुलिस ऑफिस पहुंच सका। पीडि़त का कहना है कि कुछ लोगों के दबाव में पीपीगंज पुलिस ने उनके खिलाफ मारपीट, बलवा के साथ-साथ लूट और छेड़छाड़ का मामला दर्ज कर लिया। हलका दरोगा रोजाना दबिश देने पहुंचने लगे। उधर पीपीगंज में गैस एजेंसी के मालिक ने भी मामूली कहासुनी में लूट का मुकदमा दर्ज कराने की शिकायत की। दोनों मामलों के सामने आने पर एसएसपी ने एसओ पीपीगंज को फटकार लगाई। एसएसपी ने कहा कि ऐसे तो पुलिस की छवि खराब होगी। यदि किसी के खिलाफ गलत एफआईआर दर्ज की गई तो उसे खारिज किया जाए।

बगलगीरों से मारपीट में दर्ज किया लूट का मुकदमा

पीपीगंज के बढ़या चौक निवासी सुनील यादव परदेस में रहकर कमाते हैं। बगल में रहने वाले कुछ लोगों से उनका विवाद चल रहा है। कुछ दिन पूर्व दोनों पक्षों में मारपीट हो गई। इस मामले में सुनील यादव और उनके परिवार के नौ सदस्यों के खिलाफ पुलिस ने पहले मारपीट और बलवा का मुकदमा दर्ज किया। फिर कुछ लोगों के दबाव में आकर लूट और छेड़छाड़ की एफआईआर दर्ज कर ली। मुकदमा दर्ज होने के बाद रोजाना पुलिस की टीम की दबिश देने लगी। इससे परेशान होकर सुनील ने घर छोड़ दिया। सोमवार को वह किसी तरह से एसएसपी के पास मिलने पहुंचे। मामला सामने आने पर एसएसपी ने जांच का निर्देश सीओ कैंपियरगंज को दिया।

दबाव में गैस एजेंसी मालिक हुई एफआईआर

पीपीगंज कस्बा निवासी पवन वर्मा गैस एजेंसी चलाते हैं। 28 मई को कुछ लोग गोदाम पर गैस लेने पहुंचे। उन लोगों ने बिना बुकिंग के गैस देने का दबाव बनाया। एजेंसी कर्मचारियों ने कहा कि बुकिंग के कुछ दिनों बाद गैस मिलती है। इसी कहासुनी में एक युवक ने वीडियो बनाना शुरू कर दिया। गैस एजेंसी कर्मचारियों ने वीडियो बनाने पर आपत्ति जताई तो वह भिड़ गया। इसके बाद वह कुछ लोगों संग थाने पर पहुंचा। दबाव बनाकर पवन वर्मा के खिलाफ मारपीट और लूट का मुकदमा दर्ज करा दिया। पवन वर्मा का आरोप है कि फ्री में गैस लेने के चक्कर में युवक ने खुद विवाद किया। समझाने पर गलत तहरीर दी। लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई। उल्टे लूट का मुकदमा दर्ज दिया गया। पवन ने आरोप लगाया कि थानेदार ने उनकी कोई बात नहीं सुनी। कुछ पुलिस वालों ने कहा कि पहले से मुकदमे दर्ज हैं। एक और एफआईआर हो जाएगी तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा। यह मामला सामने आने पर एसएसपी ने एसओ से बात की। मामूली विवादों में लूट की एफआईआर दर्ज करने पर फटकार लगाई। एसओ ने एसएसपी से स्वीकार किया कि कुछ लोगों ने मुकदमा दर्ज करने का दबाव बनाया था।

मामूली विवाद में लूट के मुकदमे दर्ज करने की शिकायत सामने आई है। दोनों मामलों की जांच के निर्देश दिए गए हैं। निर्देश दिया गया है कि इन प्रकरणों की गहनता से जांच करके इसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें। यदि कोई लापरवाही सामने आई तो संबंधित लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

डॉ। सुनील गुप्ता, एसएसपी

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.