घर को ही बना रखा था अपराध का 'किला'

Updated Date: Sat, 04 Jul 2020 04:56 PM (IST)

विकास दुबे ने अपने पैत्रक गांव बिकरू केबीचों-बीच किले की तरह बना रखा है घर मेन गेट से लेकर घर के हर कोने में लगे हैं सीसीटीवी 24 घंटे शॉर्प शूटर करते थे निगरानी।

KANPUR: 5 दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज होने के बावजूद दशकों से अपराध की दुनिया में पैर जमाए बैठा विकास दुबे बेहद शातिर दिमाग है। इस शातिर ने बिकरू स्थित अपने घर पर अपराध का पूरा 'किला' तैयार किया हुआ था। यहां सिर्फ वह अपने पिता और साथियों के साथ ही रहता था। किसी भी हमले से बचने के लिए उसने अपने घर में पूरे इंतजाम कर रखे थे। कोई घर के अंदर दाखिल न हो सके इसके लिए उसने 15 फीट की बाउंड्री के ऊपर लोहे की फेंसिंग कर रखी है। यही नहीं 24 घंटे निगरानी के लिए घर के आसपास उसने 10 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगा रखे थे।

किले में मौजूद हर सुविधा

लखनऊ स्थित कृष्णा नगर में मकान होने के बाद भी विकास दुबे रात अपने इस घर में ही बिताता था। 2,000 गज से ज्यादा जगह पर बने मकान में सुख-सुविधा का हर एक साधन मौजूद था। गांव में बने मकान में बाथ टब से लेकर एसी, इंटरनेट, सोलर लाइट, टीवी, कूलर और फ्रिज भी मौजूद थी। पूरे घर में स्टाइलिश मार्बल और मोटी-मोटी जालियों को यूज किया गया है। वहीं किले के कैंपस में ही पुस्तैनी मकान बना है, इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।

-----------

घर पर रहते थे शॉर्प शूटर

जिस तरह से पुलिस पर हमला किया गया, उससे साफ जाहिर है कि किले में ही नहीं बल्कि उसके आसपास भी उसके साथी तैनात रहते थे। किले को कुछ इस तरह से बनाया गया है कि गांव के 4 मुख्य रास्तों से उसका घर जुड़ता है। यही नहीं हर बाउंड्री वॉल पर उसने बड़ा गेट लगा रखा है और घर से ही पीछे भागने का भी रास्ता बना रखा है। गांव के ये सभी रास्ते बाहर की ओर निकलते हैं और मुख्य मार्गो से जुड़ते है, इसके चलते बड़ी ही आसानी से वो वारदात कर निकल गया।

------------

हर बाउंड्री में छोटी खिड़की

विकास दुबे इस कदर शातिर था कि उसने मकान बनवाने वक्त ही बड़ी सावधानी से छोटी-छोटी खिड़कियां बनवाई थीं। यही नहीं आमने-सामने बने मकानों में भी ये खिड़कियां बनी हुई हैं। यहां बता दें कि जिन मकानों में ये खिड़कियां मिलीं, उन मकानों से भी पुलिस फोर्स पर बेहिसाब फायरिंग की गई।

------------

हर वक्त बंदूकधारी तैनात

गांव वालों ने बताया कि विकास के घर के साथ ही आसपास घरों में भी 24 घंटे शॉर्प शूटर तैनात रहते थे। यही नहीं वो कहीं जाता भी था तो कम से कम 3 से 4 गाडि़यां बंदूकधारियों के साथ चलती थीं। देर रात हुई जघन्य वारदात में भी इन्हीं बंदूकधारियों ने पुलिस पर हमला किया और उन्हें मौत के घाट उतार दिया।

-------------

बेहिसाब पैसा बनाया

स्थानीय लोगों ने बताया कि आपराधिक दुनिया में उसने बेहिसाब पैसा बनाया। जिला पंचायती और प्रधान के साथ ही राजनैतिक दुनिया में भी उसकी अच्छी खासी पकड़ बना रखी थी। गांव में वो 40 भीगे से ज्यादा जमीन पर खेती करवाता और घर में 2 टै्रक्टर भी रखता है। 1 स्कॉर्पियो और 1 फॉच्युर्नर समेत कई गाडि़यां लेकर चलता है। वहीं गांव में कोई भी अपनी जमीन बेचता था तो सिर्फ विकास दुबे ही उन जमीन को खरीदना था।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.