फैक्ट्री में नाइट कफ्र्यू से पहले बुला रहे कर्मचारी

Updated Date: Mon, 12 Apr 2021 02:20 PM (IST)

2 शिफ्ट में लेबर को बुलाने की तैयार में इंडस्ट्रीलिस्ट

होटल व रेस्टोरेंट संचालकों का कारोबार भी प्रभावित

कर्मचारियों को नाइट कफ्र्यू से पहले बुलाने का हो रहा प्रयास

रात के खाने का इंतजाम भी खुद कर रहे इंडस्ट्रीज संचालक

350 मंडप हैं शहर भर में

500 से अधिक प्रोग्राम कैंसिल हो गए हैं नाइट कफ्र्यू के कारण

Meerut। कोरोना संक्रमण के चलते प्रशासन द्वारा लगाया गया नाइट कफ्र्यू एक बार फिर शहर के इंडस्ट्रीलिस्ट और व्यापारी वर्ग खास तौर पर मंडल, होटल रेस्टोरेंट संचालकों के लिए परेशानी का सबब बनता जा रहा है। नाइट कफ्र्यू से इंडस्ट्रीज के लिए रात की शिफ्ट में काम करने वाली लेबर के आने जाने की परेशानी हो गई है वहीं मंडल होटल वालों के शादियों के आर्डर कैंसिल होना शुरु हो गए हैं।

रात भर इंडस्ट्री में रहेगी लेबर

शहर में नाइट शिफ्ट में संचालित होने वाली इंडस्ट्रीज की संख्या हजारों में है। इनमें डे नाइट दो शिफ्ट में काम होता है। ऐसे में नाइट शिफ्ट में जो इंडस्ट्रीज चलती है उनकी लेबर को कफ्र्यू टाइम से पहले बुलाए जाने का प्रयास किया जा रहा है। इतना ही ही रात के खाने का इंतजाम भी खुद इंडस्ट्रीज संचालक ही कर रहे है। ताकि लेबर को रात के समय खाने के लिए बाहर ना जाना पडे।

प्रशासन से मांगी अनुमति

आईआईए ने भी नाइट शिफ्ट में काम करने वाली लेबर के आने जाने के लिए प्रशासन से अनुमति मांगी है। आईआईए खुद लेबर के लिए आईडी कार्ड जारी कर उनको आने जाने की सुविधा देने के लिए प्रशासन से मांग कर रहा है। इससे नाइट कफ्र्यू के दौरान भी इंडस्ट्रीज का काम प्रभावित नही होगा।

शादियों का साया फ्लॉप

मंडप एसोसिएशन द्वारा कमिश्नर और जन प्रतिनिधियों से मिलकर नाइट कफ्र्यू हटाने की मांग की जा रही है लेकिन उनको रियायत नही मिल पा रही है। ऐसे में शादियों के कारोबार से जुडे़ कैटरर्स से लेकर लेबर के लिए रोजगार का संकट खड़ा हो गया है।

प्रशासन से मांगी अनुमति

आईआईए अध्यक्ष अनुराग अग्रवाल ने बताया कि इंडस्ट्रीज के लिए एक बार फिर परेशानी का समय शुरु हो गया है। नाइट शिफ्ट में लेबर के आने जाने की परेशानी हो रही है। हमने प्रशासन को पत्र लिखकर अनुमति मांगी है कि लेबर को नाइट शिफ्ट में आने जाने की रियायत दी जाए। इसके लिए हम उनको आईडी कार्ड भी जारी करेंगे।

खाने पीने का इंतजाम

आईआईए सचिव अंकित सिंघल ने बताया कि नाइट कफ्र्यू के दौरान भी काम जारी रहे इसके लिए कोशिश कर रहे है कि कफ्र्यू से पहले ही लेबर को बुलाया जाए और उनके खाने पीने का इंतजाम भी रखना पड़ेगा। इससे काफी परेशानी होनी तय है।

असमंजस में मंडप संचालक

मेरठ मंडप एसोसिएशन महामंत्री विपुल सिंघल ने बताया कि शहर में 350 मंडप है नाइट कफ्र्यू के कारण 500 से अधिक प्रोग्राम कैंसिल हो चुके हैं। लेबर के आने जाने के लिए 11 बजे तक की छूट का कमिश्नर से आश्वासन मिला था लेकिन इस पर भी सोमवार तक फाइनल होगा। मंडल संचालक तो पूरी तरह असमंजस में है कि क्या होगा और कैसे होगा।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.