खर्च का ब्योरा मांगने पर अधिकारी बगले झांकने लगे

Updated Date: Wed, 12 Feb 2020 05:30 AM (IST)

सदन की बैठक में ब्योरा देने का किया वादा

कार्यकारिणी की बैठक में नगर निगम और जलकल के 7.18 अरब का बजट पास

VARANASI

नगर निगम कार्यकारिणी की बैठक में मंगलवार को दूसरे दिन बजट चर्चा के दौरान नगर आयुक्त समेत अन्य अफसरों ने 45.26 लाख के खर्च का ब्योरा नहीं दिया। इस पर काफी देर तक अफसरों ने एक-दूसरे से आपस में चर्चा के बाद सदन की बजट बैठक में देने का वादा किया। लगभग ढाई घंटे की चर्चा के बाद कार्यकारिणी ने नगर निगम और जल कल के 7.18 अरब के बजट को मंजूरी दे दी।

जीएम से किए सवाल

कार्यकारिणी की बैठक में जलकल पर चर्चा के दौरान पार्षदों ने सीवर व्यवस्था को ठीक नहीं करने का आरोप लगाते हुए जीएम पर सवालों की बौछार कर दी। पब्लिक की समस्याओं पर फोकस कर पार्षदों ने हर हाल में सीवर व्यवस्था को ठीक करने की मांग रखी। जलकल सचिव रघुवेंद्र कुमार ने कहा कि सीवर ओवरफ्लो की शिकायत 48 घंटे में दूर करने का लक्ष्य रखा गया है। निर्धारित समय में शिकायत दूर नहीं होने पर ठेकेदारों से जुर्माना वसूला जाएगा। जीएम नीरज गौड़ ने बताया कि सीवर सफाई के लिए तीन बड़े जेटिंग मशीन और दो मैजिक खरीदे की तैयारी चल रही है। इस पर 2.50 करोड़ रुपये खर्च आएंगे। मेयर मृदुला जायसवाल की अध्यक्षता में हुई बैठक में नगर निगम के अधिकारियों के साथ उप सभापति नरसिंह दास, राजेश यादव चल्लू, पूर्णमासी गुप्ता, शिवप्रकाश मौर्य, सीताराम केसरी, मनोज यादव, बबलू शाह आदि मौजूद थे।

समय बढ़ाने से इनकार

जलकल पर चर्चा के दौरान पार्षदों ने वाटर टैक्स पर सरचार्ज माफी के समय को और बढ़ाने का सुझाव दिया। इसे खारिज करते हुए मेयर ने कहा कि अब तक दो बार यह योजना लागू की जा चुकी है। ऐसे में इसे दोबारा फिर नहीं बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने जलकल के अधिकारियों पर वसूली में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। इसके अलावा सीवर सफाई व्यवस्था पर चर्चा के दौरान नगर आयुक्त गौरांग राठी ने सदस्यों से अपने क्षेत्र में तीन-तीन सफाई कर्मचारी रखने का प्रस्ताव रखा। इसे कार्यकारिणी सदस्यों ने खारिज कर दिया।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.