मंडलीय अस्पताल में चला 'ऑपरेशन दलाल'

Updated Date: Sat, 24 Oct 2020 08:08 AM (IST)

- पूरे अस्पातल परिसर में दलालों की धर-पकड़ के लिए हुई छापेमारी

- दलालों को चिह्नित कर पुलिस ने की कानूनी कार्रवाई

शिवप्रसाद गुप्त मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा में दलालों की धर-पकड़ के लिए शुक्रवार को 'आपरेशन दलाल' चलाया गया। ओपीडी, वॉर्ड व इमरजेंसी सहित पूरे परिसर में छापेमारी की गई। कबीरचौरा चौकी प्रभारी प्रीतम तिवारी की निगरानी में चले सर्च अभियान के दौरान परिसर में मौजूद छह दलालों को पुलिस ने चिह्नित कर कानूनी कार्रवाई की। ऑन ड्यूटी स्वास्थ्य कर्मियों की पहचान की गई।

डीएम कौशल राज शर्मा को काफी दिनों से शिकायतें मिल रही थी कि मंडलीय अस्पताल में दलाल सक्रिय हैं। दलाल और मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव (एमआर) की सांठ-गांठ खूब चलती है। डीएम ने दलालों पर लगाम लगाने के लिए एसएसपी अमित पाठक को पत्र लिखकर त्वरित कार्यवाही करने का निर्देश दिया था। इसी क्रम में पुलिस ने ऑपरेशन दलाल अभियान चलाकर दलालों पर शिकंजा कसा। चौकी प्रभारी प्रीतम तिवारी ने बताया कि सूचना थी कि दलाल मंडलीय अस्पताल से मरीजों को बहलाकर निजी एंबुलेंस से अन्यत्र ले जाते हैं। इसके एवज में उन्हें मोटी रकम मिलती है। इनकी मिलीभगत अस्पताल कर्मियों से भी है।

महिलाएं भी हैं सक्रिया

चौकी प्रभारी के अनुसार अस्पताल के आस-पास दलाल दिनभर मंडराते रहते हैं। जैसे ही कोई गंभीर मरीज आता है उसे वे निशाना बनाते हैं। लिहाजा ऑपरेशन दलाल के जरिए उन पर लगाम लगाने की कोशिश की गई है। छह दलालों को चिह्नित कर कानूनी कार्रवाई की गई। उनसे पूछताछ की जा रही है। वहीं सूत्रों के मुताबिक पुलिस के हत्थे चढ़े दलालों से उनके धंधे के बारे में कई अहम सुराग मिलने की उम्मीद है।

छापेमारी में चौकी प्रभारी के अलावा कांस्टेबल दिनेश कुमार यादव, संजय वर्मा, अजीत राय आदि सहित बड़ी संख्या में पुलिस कर्मी शामिल थे। चौकी प्रभारी ने बताया कि दलालों के खिलाफ अभियान जारी रहेगा। कुछ महिला दलाल चिह्नित की हैं। पुलिस उन पर भी पैनी नजर रख रही है। इसके लिए बाकायदा सादे वेश में महिला पुलिसकर्मियों को लगाया गया है।

-एमआर-दलाल के जाल में अस्पताल

मंडलीय अस्पताल में दलाल व मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव (एमआर) की सांठ-गांठ बहुत जबर्दस्त है। एक तरफ ओपीडी शुरू होते ही दलाल दिखने लगते हैं तो वहीं एमआर भी ओपीडी के अंदर-बाहर मंडराते हैं। ग्रुप बनाकर जहां एमआर डाक्टर से बकायदा ओपीडी टाइम में मिलते हैं तो वहीं डाक्टरों के बगल में बैठकर दलाल खुद रजिस्टर पर मरीजों का नंबर चढ़ाते हैं। अस्पताल में दलाल सक्रिय हैं इसे कबीरचौरा चौकी प्रभारी भी स्वीकार करते हैं। उनका कहना है कि टीम गठित की जा रही जो नियमित तौर पर दलालों पर अंकुश लगाएगी।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.