दून की सड़कों पर लगेंगे स्मार्ट डिवाइडर

Updated Date: Fri, 01 Apr 2016 02:11 AM (IST)

-सड़कों से हटाए जाएंगे पुराने लोहे के बैरीकेड

-सड़कों की चौड़ाई के साथ ही बढे़गा सौंदर्यकरण

-सड़कों पर लगने वाले जाम से भी मिलेगी निजात

-एमडीडीए तैयार करा रहा है यह स्मार्ट डिवाइडर

>rajneesh.kumar@inext.co.in

DEHRADUN: भले ही अभी देहरादून को स्मार्ट सिटी बनाने में समय लगे, लेकिन एमडीडीए ने दून की सड़कों को स्मार्ट बनाने की तैयारी कर ली है। रेलवे स्टेशन रोड सहित कई सड़कों को टू लेन बनाने के लिए लगाए गए लोहे के बैरीकेड हटाकर उनके स्थान पर स्मार्ट डिवाइडर लगाए जाएंगे। यह डिवाइडर चौड़ाई में कम होंगे, वहीं इन पर रिफ्लेक्टर भी लगे होंगे। इससे पैदल यात्रियों को सड़क पार करने में परेशानी नहीं उठानी पडे़गी।

बढ़ती दुर्घटनाओं से लिया सबक

पुलिस ने सिटी में यातायात व्यवस्था को नियंत्रित करने के लिए कई जगहों पर टू लेन सड़क बना दी थी। वहां पर डिवाइडर नहीं थे, इसलिए वहां पर लोहे के बैरीकेड लगा दी। यह बेरीकेड ऊंचे हैं और करीब दो फिट तक चौडे़ हैं। ऐसे में जहां सड़क पर जाम लगता है, वहीं दुर्घटनाएं भी हो रही है। पिछले महीने एक छात्र की बैरीकेड से टकराकर मौत हो गई थी। इसका कारण यह था कि बैरीकेड को किसी ने हिला दिया था, जिससे वह सड़क के बीच में आ गया था। इसी से सबक लेते हुए नया प्लान तैयार किया जा रहा है।

कुछ इस तरह होंगे नए डिवाइडर

यह डिवाइडर स्थाई नहीं होंगे। इन्हें अलग जगह तैयार किया जाएगा। एक डिवाइडर की चौड़ाई एक फिट होगी, वहीं यह मात्र बीस इंच तक ही ऊंचे होंगे। इन पर रिफ्लेक्टर भी लगे होंगे, जिससे दूर से ही रात में इन्हें आसानी से देखा जा सकेगा। जहां सड़क की चौड़ाई एक फिट से भी अधिक बढ़ जाएगी। जिससे जनता को जाम की समस्या से तो निजात मिलेगी ही, साथ ही सड़क का सौंदर्यकरण भी होगा।

आसान होगा प्लान में बदलाव

पुलिस के लिए इन डिवाइडर के साथ सड़क पर यातायात व्यवस्था में बदलाव आसान होगा। इनका बजट एक कुंतल से अधिक होगा, इसलिए इसे हर कोई आसानी से हिला नहीं पाएगा। चूंकि यह अस्थाई हैं, इसलिए पुलिस इनमें आसानी से बदलाव कर अपना यातायात प्लान बदल सकती है।

इन सड़कों से होगी शुरुआत

एमडीडीए पहले चरण में आढ़त बाजार, जोगीवाला, रेलवे स्टेशन रोड आदि पर इसकी शुरुआत कर रहा है। इसके बाद जहां भी इनकी जरूरत होगी, इन्हें लगाया जाएगा। इन सड़कों पर पुलिस ने लोहे के बैरकेड लगाकर सड़क को डिवाइड कर रखा है।

अगले दो से तीन सप्ताह में यह डिवाइडर चिह्नित सड़कों पर लगवा दिए जाएंगे। इसके लिए किसी सड़क को तोड़ने की जरूरत नहीं होगी। इससे सड़कों की चौड़ाई तो बढे़गी, साथ ही सड़क का सौंदर्यकरण भी हो जाएगा।

--पीसी दुमका, सचिव, एमडीडीए देहरादून

--------

हमने स्मार्ट डिवाइडर का पूरा प्लान तैयार कर लिया है। अगले क्भ् दिन में इन्हें लगवा दिया जाएगा। इससे ट्रैफिक व्यवस्था को नियंत्रित करना आसान होगा।

--जगमोहन सिंह, अरबन एवं ट्रांसपोर्ट प्लानर, एमडीडीए

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.