श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में टिकट का वसूला जा रहा है दाम

बरेली तक सफर के बाद भी गोरखपुर तक का दिया किराया

बरेली।

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से बरेली पहुंच रहे प्रवासी मजदूरों के लिए रोडवेज खेवनहार बना हुआ है। अदर स्टेट्स से आ रही अधिकांश ट्रेनों में इन प्रवासी मजदूरों से टिकट की रकम की वसूली हो रही है। बरेली पहुंचने पर जिला प्रशासन न सिर्फ इनकी आवाभगत कर रहा है बल्कि इन्हें रोडवेज की बसों से इनके ठिकानों तक मुफ्त पहुंचा भी रहा है। परेशानहाल प्रवासी मजदूरों को इससे खासी राहत मिल रही है। मंडे को दिन में दो श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से 1882 प्रवासी मजदूर बरेली जंक्शन पहुंचे। इनमें से एक सहारनपुर से लखनऊ जाने वाली ट्रेन रही तो दूसरी ट्रेन गुजरात के जामनगर से यहां पहुंची। सहारनपुर से बरेली होकर गुजर रही ट्रेन से सिर्फ सात प्रवासी ही यहां उतरे।

टिकट मुफ्त पर सफर नहीं

प्रवासी मजदूरों के लिए मुफ्त में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के संचालन की बात प्रवासी मजदूरों के ही गले नहीं उतर रही है। अब तक बरेली पहुंची अधिकांश स्पेशल ट्रेनें गुजरात से आई हैं। यह ट्रेनें साबरमती, पालनपुर, जामनगर आदि जगहों से यहां आई। इसके अलावा लुधियाना, जालौर, आनंद विहार, सहारनपुर आदि जगहों से भी यहां पहुंची है। इनमें से कुछ ट्रेनों से पहुंचे प्रवासी मजदूरों ने बताया कि उन्हें ट्रेन में सवार होने से पहले टिकट तो दिया गया, पर उनसे इसका भुगतान नहीं लिया गया। इसके अलावा अन्य ट्रेनों से पहुंचे प्रवासी मजदूरों ने बताया कि उनसे टिकट का भुगतान लिया गया। यह भुगतान उनसे तब ही ले लिया गया जब उन्हें रेलवे स्टेशन तक बसों से लाया जा रहा था। कुछ प्रवासियों ने बताया कि वह जहां काम करते थे वहीं टिकट का भुगतान उनकी मजदूरी से काट लिया गया। उनसे छोटे बच्चों तक के टिकट का भुगतान वसूल लिया गया।

सफर बरेली तक पर किराया दिया गोरखपुर का

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में पालनपुर और जालौर से बरेली पहुंचे प्रवासी मजदूरों से गोरखपुर तक का किराया वसूला गया। इन ट्रेनों में बरेली के साथ ही आस-पास के जिलों के कई प्रवासी यहां पहुंचे थे। इन लोगों का सफर बरेली तक होने के बाद भी इन्हें गोरखपुर तक का ही टिकट दिया गया था। पालनपुर से बरेली तक का टिकट 490 रुपये का होने के बाद भी इन्हें गोरखपुर तक 635 रुपये का टिकट दिया गया। प्रवासी मजदूरों ने बताया कि उनसे इसका 700 रुपया तक वसूला गया।

भोजन सेवा में जुटे हैं राजस्व विभाग के अमीन

बरेली पहुंच रहे प्रवासी मजदूरों को यहां भोजन का पैकेट और पानी की बॉटल देकर ही बसों में बैठाया जा रहा है। यह व्यवस्था प्रशासन की ओर की जा रही है। प्रवासी मजदूरों के लिए भोजन तैयार कराने से लेकर बांटने तक की जिम्मेदारी अमीन निभा रहे हैं।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner