- एकेटीयू में नहीं भरी पीजी की 10 प्रतिशत भी सीटें

- 5500 सीट पर हुए 500 से भी कम एडमिशन

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी के पीजी कोर्सेस में एडमिशन के लिए हुई काउंसिलिंग में दस प्रतिशत सीटें भी नहीं भर पाई हैं. पीजी कोर्सेस में एडमिशन के लिए शुक्रवार को काउंसिलिंग शुरू हुई. देर शाम तक चली काउंसिलिंग के बाद भी यूनिवर्सिटी के पीजी कोर्सेस की 10 प्रतिशत सीटें भी नहीं भर पाई. यह अंतिक चरण की काउंसिलिंग थी.

5500 सीटों के लिए काउंसिलिंग

प्रदेश के इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कॉलेजों में पीजी की 5500 सीटें हैं. शुक्रवार को काउंसिलिंग के बाद 460 सीटें कैंडीडेट्स ने लॉक की हैं. निजी कॉलेज कैंडीडेंट्स को अपनी ओर आर्कषित करने में पूरी तरह से फेल हो गए. 90 प्रतिशत तक एडमिशन सरकारी कॉलेजों में ही हुए हैं. पीजी कोर्सेस का संचालन करने वाले नौ सरकारी कॉलेजों की लगभग ज्यादातर सीट भर चुकी हैं. आईईटी लखनऊ और केएनआईटी सुल्तानपुर में 100 सीटें तक भरी हैं.

39 कॉलेज किए गए थे बंद

एकेटीयू ने करीब 39 कॉलेजों को इस बार बंद किया था. जिसमें कुछ पीजी कोर्स चलाने वाले कॉलेज भी थे. सीटों की संख्या कम होने के बाद भी इस खराब स्थिति ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं.

निजी संस्थान आधारभूत सुविधाओं की कमी के चलते कैंडीडेट्स को आर्कषित नहीं कर पा रहे हैं. साफ है कि जो संस्थान अच्छा प्रदर्शन करके स्टूडेंट्स भी उसी की ओर रुख करेंगे.

आशीष मिश्रा

प्रवक्ता, एकेटीयू