कोलकाता (पीटीआई)। कोविड 19 महामारी के चलते अगर आईपीएल नहीं हो पाता है फिर भी एमएस धोनी को टीम इंडिया में एक मौका मिलना चाहिए। यह कहना है माही के बचपन के कोच केशव रंजन बनर्जी का। बनर्जी को उम्मीद है कि उम्रदराज क्रिकेटर धोनी को भारतीय टी-20 वर्लडकप टीम में जगह मिलेगी। धोनी पिछले साल जुलाई में विश्व कप में भारत के सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद से टीम से बाहर हैं। बनर्जी ने रांची से पीटीआई को बताया, 'मौजूदा परिदृश्य में, आईपीएल की संभावना कम दिखती है और हमें बीसीसीआई के बुलावे का इंतजार करना होगा। उनकी (धोनी की) स्थिति स्पष्ट रूप से कठिन हो जाएगी। लेकिन मेरी छठी इंद्री कहती है कि उन्हें टी 20 विश्व कप में मौका मिलेगा, जो उनका आखिरी होगा।'

धोनी पूरी तरह से हैं फिट

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान ने आईपीएल 2020 तक रांची में प्रशिक्षण लिया और कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण लीग स्थगित होने से पहले चेन्नई में अपने प्रशिक्षण शिविर का भी नेतृत्व किया। चेन्नई से लौटने के बाद मैंने उनसे आखिरी बार बात की और मैं अपने माता-पिता के लगातार संपर्क में हूं। वह अपनी फिटनेस की ट्रेनिंग कर रहे हैं और पूरी तरह से फिट हैं। "अब हम बीसीसीआई के फैसले का इंतजार करते हैं। आईसीसी टूर्नामेंट जून तक बंद हैं। इसलिए हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा।"

धोनी के पास है काफी अनुभव

मुख्य कोच रवि शास्त्री ने पहले कहा था कि आईपीएल धोनी के भाग्य का फैसला करेगा, जो जुलाई में 39 साल के हो जाएंगे। लेकिन इस साल आईपीएल में जगह बनाने के लिए सुनील गावस्कर और वीरेंद्र सहवाग सहित भारतीय दिग्गजों ने 2011 के विश्व कप विजेता कप्तान की वापसी पर सवालिया निशान उठाया था। बनर्जी कहते हैं, 'यह सच है कि उन्होंने एक भी टूर्नामेंट (जुलाई 2019 से) नहीं खेला है, लेकिन 538 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने के बाद किसी खिलाड़ी को लय में आने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। शुरुआती करियर में ऐसा हो सकता है लेकिन धोनी के साथ ऐसा नहीं है। उनके पास अनुभव का खजाना है। मुझे लगता है कि उन्हें आखिरी मौका मिलेगा।"

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk

inext-banner
inext-banner