- शहर की रात्रिकालीन सफाई के लिए बन गए थे आठ नाइट गैंग

- दो हो गए गायब, बाकी में तैनात कर्मचारी में करते ड्यूटी में लापरवाही

GORAKHPUR: शहर की सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए नगर निगम कवायदें तो जोरशोर से करता है लेकिन जमीन पर आते-आते सब कुछ हवा-हवाई हो जाता है. अब सफाई व्यवस्था के लिए बनाए गए नाइट गैंग्स का हाल ही देख लीजिए. स्थाई सफाई कर्मचारियों वाले आठ नाइट गैंग्स में से दो तो गायब ही रहते हैं. वहीं, बाकी छह में तैनात कर्मचारी भी कभी-कभार ही ड्यूटी पर नजर आते हैं.

खूब हुई कवायद, नतीजा सिफर

नगर निगम के स्थाई सफाई कर्मचारियों का नाइट गैंग बनाकर रात में मुख्य सड़कों और रात्रिकालीन सफाई की जिम्मेदारी दी गई थी. इसके लिए करीब आठ गैंग बनाए गए थे लेकिन वर्तमान में सिर्फ छह ही काम कर रहे हैं. एक गैंग में करीब छह से आठ सफाई कर्मचारी काम करते हैं. इसके लिए दो फर्मो को भी लगाया गया था लेकिन आज भी निगम सफाई कर्मचारियों की कमी का रोना रो रहा है. इसी का नतीजा है कि शहर की सफाई व्यवस्था मुकम्मल नहीं हो पा रही है.

मेयर ने दिखाई थी हरी झंडी

शहर की सफाई व्यवस्था बेहतर बनाने के लिए मेयर सीताराम जायसवाल ने गोलघर स्थित नगर निगम के आधुनिक कूड़ा पड़ाव केंद्र से नाइट गैंग को हरी झंडी देकर रखाना किया था. उस समय उनका कहना था कि रात में सफाई शुरू होने से शहर के व्यवसायिक व व्यस्त एरियाज में गंदगी नहीं रहेगी. इससे शहर भी साफ-सुथरा नजर आएगा. व्यवस्था तो चालू की गई और गोलघर, शास्त्री चौक, बक्शीपुर और असुरन चौराहा पर रात के समय सफाई चालू की गई. लेकिन कुछ ही समय में धीरे-धीरे सफाई की रफ्तार सुस्त पड़ गई. आलम यह है कि पिछले दो दिन से नाइट गैंग सिर्फ गोलघर और गोरखनाथ मंदिर इलाके में ही नजर आ रही है. अन्य जगहों पर इस गैंग का पता तक नहीं चल पा रहा.

बॉक्स

ड्रेस में नहीं दिखते सफाई कर्मी

सफाई कर्मचारियों के लिए ड्रेस कोड निर्धारित किया गया था. साथ ही नियमित कर्मचारियों को हरे रंग का ड्रेस दिया जाना था लेकिन उन्हें ड्रेस नहीं मिला. वहीं ठेके पर काम करने वाले सफाई कर्मचारियों को नारंगी ड्रेस देने थे. इसके अलावा नाला और इमरजेंसी गैंग के सफाई कर्मचारियों के लिए आसमानी रंग का ड्रेस निर्धारित किया गया था लेकिन आज तक उन्हें ड्रेस नहीं मिल सके.

यहां लगाए गए थे नाइट गैंग

- गोलघर

- शास्त्री चौक

- ट्रैफिक कार्यालय

- धर्मशाला बाजार

- बक्शीपुर

- गोरखनाथ मंदिर एरिया

- असुरन चौक

सिटी में वार्ड - 70

सफाई कर्मचारी - 2151

नाइट गैंग - 8

वर्जन

शहर की मुख्य सड़कों की सफाई के लिए नाइट गैंग लगाए गए हैं जो काम कर रहे हैं. बारिश की वजह से थोड़ी दिक्कत आई है. जहां तक ड्रेस कोड का सवाल है तो जल्द ही कर्मचारी रंगीन ड्रेस में नजर आएंगे.

- डॉ. मुकेश रस्तोगी, नगर स्वास्थ्य अधिकारी