पुलिस कलर के साथ डाली गयी थी सूचना, ग्रुप पर पुलिस की नजर है

कानूनी कार्रवाई के डर से ह्वाट्सएप ग्रुप एडमिन ने शुक्रवार रात ही बदले उठाए जरूरी कदम

PRAYAGRAJ: श्रीराम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को देखते हुए सोशल मीडिया की मूवमेंट पर पुलिस और प्रशासन की नजर लगी हुई थी. मैसेजेस के आदान-प्रदान पर हो रही मानीटरिंग से सोशल साइटों के ग्रुप एडमिन्स को भी सोचने पर मजबूर होना पड़ा. इसके चलते ह्वाट्सएप के तमाम ग्रुपों के एडमिन्स को सेटिंग बदलने पर मजबूर होना पड़ा. सदस्यों द्वारा अनाप शनाप मैसेज किए जाने से एडमिन्स को जेल जाने का डर सता रहा था.

केवल एडमिन कर सकते थे मैसेज

जिन सोशल मीडिया ग्रुपों में सुबह से लेकर रात तक मैसेज और पिक्चर्स की भरमार होती थी वहां शनिवार को पूरी तरह से सन्नाटा पसरा था. ग्रुप मेंबर्स की एक एक हरकत पर एडमिन्स नजर रख रहे थे. कारण साफ था कि धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाला मैसेज करने वाले के साथ ग्रुप एडमिन्स पर भी कार्रवाई होना. इसके चलते तमाम ग्रुपों में एडमिन्स ने सेटिंग चेंज कर दी. जिसके चलते ग्रुप में केवल वह ही मैसेज सेंड कर सकते थे. ऐसा करने के बाद वह चैन की सांस ले पा रहे थे.

लगातार पोस्ट हो रही थी अपील

सोशल मीडिया पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाले पोस्ट को रोकने के लिए दो दिन पूर्व से डीजीपी की ओर से अपील की जा रही थी. जिसमें पुलिस के आला अधिकारी द्वारा ऐसे किसी मैसेज को सेंड नही करने की रिक्वेस्ट की गई थी जिससे किसी समुदाय को ठेस पहुंचे. इस अपील में सीधे तौर पर ऐसा करने वाले के खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गई थी. यह पोस्ट अनिवार्य रूप से सभी सोशल मीडिया ग्रुपों पर भेजी जा रही थी.

एक पर कार्रवाई, कईयों को निकाला

सोशल मीडिया पर सख्ती का असर इस लेवल पर था कि कई ग्रुपों में एडमिन्स को मेंबर्स को निकालना तक पड़ गया. मंदिर और मस्जिद से जुड़े विवादित मैसेज भेजने पर उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया गया. वहीं शाहगंज के एक युवक पर भी पुलिस ने कड़ी कार्रवाई की गई थी और इसको भी सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा था. जिसका खौफ लोगों के चेहरे पर साफ नजर आ रहा था.

करेली-मुट्ठीगंज थानों में दर्ज हुए मामले

सोशल मीडिया पर भावनाएं भड़काने वाली पोस्ट के चक्कर में पिछले 24 घंटे के दौरान करेली और मुट्ठीगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है. करेली में मामला सैय्यद जारा नकवी के खिलाफ दर्ज कराया गया है तो मुट्ठीगंज में मामला वीनस केसरी के खिलाफ दर्ज किया गया है. नकवी ने फेसबुक पर विवादित पोस्ट शेयर की थी तो केसरी के खिलाफ मामला खुद पुलिस ने दर्ज कराया है. वीनस कीडगंज एरिया का रहने वाला है. उसने भी फेसबुक पर विवाद पोस्ट की थी.

हमने ग्रुप के तमाम मेंबर्स को विवादित मैसेज नही डालने की अपील की थी. लेकिन असर कम दिखा तो फिर सेटिंग बदलने की नौबत आ गई. वापस मोड पर जाने में अभी दो से तीन दिन लगेगा.

राहुल सिंह,

सोशल मीडिया ग्रुप एडमिन

ऐसे मौकों पर सोशल ग्रुप में मौजूद दर्जनों मेंबर्स की भावनाओं को काबू करना आसान नही होता. जो नही मानता उसे बाहर का रास्ता दिखाना पड़ता है.

फिरोज,

सोशल मीडिया ग्रुप एडमिन

आन ग्राउंड एक्टिविटी वॉच करने के साथ हमने सोशल मीडिया को भी लगातार वॉच किया. पहले ही वार्निग दे दी गयी थी. विवादित पोस्ट करने वालों को इसे डिलीट करने का भी आग्रह किया गया. इसके बाद भी न मानने वालों पर मुकदमे दर्ज कराये गये हैं.

बृजेश श्रीवास्तव

एसपी सिटी, प्रयागराज

Posted By: Inextlive