हत्या की आशंका, पटरी पर मिले खून से सन कपड़े

बॉडी का आधा हिस्सा नहीं हुआ बरामद

allahabad@inext.co.in

नैनी बिज के नीचे यमुना नदी में गुरुवार की सुबह रेलकर्मी की अ‌र्द्धनग्न लाख बरामद होने से सनसनी फैल गई. बॉडी पर स्पॉट और ट्रैक पर खून से सने कपड़े मिलने से हत्या की आशंका जताई जा रही है. घटना से खफा रेलवे के गैंगमैन ने करीब 40 मिनट तक दिल्ली-हावड़ा रूट पर जाम लगा दिया. मौके पर पहुंचे मृतक के परिवार वालों ने हत्या की आशंका जताई गई. हत्या किसने और क्यों की होगी? इस पर वे कुछ बोल नहीं सके. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

नैनी ब्रिज पर थी तैनाती

मृतक का नाम 45 वर्षीय विष्णु देव यादव बताया गया है. वह मूल रूप से भोजपुर बिहार का रहने वाला था. उसकी तैनाती नैनी ब्रिज पर की मैन के पोस्ट पर थी. वह पत्‍‌नी उर्मिला, बेटे सुनील व बहू के साथ खुल्दाबाद में रहता था. बुधवार की शाम छह बजे से वह घर से ड्यूटी के लिए निकला था. इसके बाद घर नहीं लौटा. गुरुवार की सुबह ट्रैक का निरीक्षण करने के लिए निकले ट्रैकमैन ने पटरी के किनारे खून से लतपथ कपड़े और पेट का हिस्सा पड़ा देखा तो चौंक गए. कपड़ों से उन्हें शक हुआ और उन्होंने विष्णु के बारे में पता लगाया. कोई सूचना नहीं मिलने पर परिवारवालों को इसकी जानकारी दी.

आधी बॉडी ही हुई बरामद

परिवारवालों के मौके पर पहुंचे और गैंगमैनो के ट्रैक जाम करके मालगाड़ी रोक देने के बाद रेलवे के साथ पुलिस के लोग हरकत में आ गए. गोताखोरों को यमुना नदी में उतार दिया गया. काफी कोशिश के बाद दोपहर बाद बॉडी का आधा हिस्सा (शरीर के नीचे का) बरामद हुआ. बाकी का देर शाम तक कोशिश के बाद भी कुछ पता नहीं चल सका. पत्‍‌नी का कहना था कि यदि वह ट्रेन की चपेट में आए होते तो कपड़े ट्रैक पर कैसे रह जाते. इसी के आधार पर उसने हत्या की आशंका जताई है. यही तर्क ट्रैक जाम करने वाले गैंग मैनो का भी था. हालांकि कोई हत्या का कारण नहीं बता सका. घटना की रिपोर्ट दर्ज करने के लिए तहरीर भी अज्ञात लोगों के खिलाफ ही दी गई है. पुलिस छानबीन में लगी है.